उत्तराखंड में घास काटने जाने वाली महिलाओं को घस्यारी कहा जाता है. महिलाएं जंगलों और पहाड़ों से पशुओं के लिये घास काटकर लाती हैं.