चिकत्सीय विश्लेषण की सुविधा के लिये शरीर के आन्तरिक अंगों का बिम्ब लेना तथा उसका प्रसंस्करण चिकित्सा प्रतिबिम्बन (Medical imaging) कहलाता है। इससे कुछ अंगों या ऊतकों के कार्य करने के ढंग भी धृश्य रूप में प्रस्तुत हो जाता है। चिकित्सा प्रतिबिम्बन के द्वारा शरीर के अन्दर त्वचा एवं अस्थियों के कारण छिपे हुए अंगों का आन्तरिक संरचना सामने आ जाती है जिससे और रोगों का निदान करने में सुविधा होती है।

छाती का एक्स-रे
एक सी.टी. स्कैन जिसमें उदर महाधमनी में संविदार (रप्चर) दिख रहा है।

चिकित्सा प्रतिबिम्बन, जीववैज्ञानिक प्रतिबिम्बन का एक अंग है।

प्रकारसंपादित करें

चिकित्सा प्रतिबिम्बन के प्रमुख प्रकार निम्नलिखित हैं-

  • एक्स-रे रेडियोग्राफी
  • कम्प्यूटर टोमोग्राफी (सी टी स्कैन)
  • पराश्रव्य ( अल्ट्रासोनोग्राफी या अल्ट्रासाउण्ड)
  • आइसोटोप स्कैन ( isotope scan)
  • चुम्बकीय अनुनाद प्रतिबिम्बन ( MRI)
  • पोजिशन एमिशन टोमोग्राफी (PET)
  • SPECT, आदि।