चोरी चोरी (2003 फ़िल्म)

2003 की मिलन लुथरिया की फ़िल्म

चोरी चोरी 2003 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह एक नाट्य प्रेमकहानी फिल्म है और इसमें अजय देवगन और रानी मुखर्जी प्रमुख भूमिकाओं में हैं।[1]

चोरी चोरी
चोरी चोरी (2003 फ़िल्म).jpg
चोरी चोरी का पोस्टर
निर्देशक मिलन लुथरिया
निर्माता ललित कपूर
राजू नरूला
लेखक मिलन लुथरिया
अभिनेता अजय देवगन,
रानी मुखर्जी,
सोनाली बेंद्रे
संगीतकार साजिद-वाजिद
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1 अगस्त, 2003
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

खुशी (रानी मुखर्जी) दिल्ली में रहने वाली एक अनाथ और खुशमिजाज लड़की है। उसको नौकरी से निकाले जाने के एक दिन पहले, उसकी मुलाक़ात रणबीर मल्होत्रा (अजय देवगन) से होती है। वो खुशी को अपने सपने के घर के बारे में बताते रहता है, जो शिमला में वो बनाया है। खुशी की नौकरी चले जाने के बाद वो उसी बंगले को ढूंढते हुए वहाँ आ जाती है और सभी से कहती है कि वो रणबीर की मंगेतर है। उसकी मुलाक़ात रणबीर के परिवार और पूजा (सोनाली बेंद्रे) से होती है।

जब रणबीर घर आ जाता है तो वो खुशी के उसके ही घर में इस तरह झूठ बोल कर घुसपैठ करने के कारण, वो उसके ऊपर आग बबूला हो जाता है, पर बाद में वो उसके साथ मिल कर पूजा को जलाने के बारे में सोचता है। पूजा को जलाने के लिए वे दोनों प्यार का नाटक करते रहते हैं, पर बाद में दोनों सच में एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं। पर खुशी को लगता है कि रणबीर सिर्फ पूजा से प्यार करता है, और उसे रणबीर को किया पुराना वादा याद आता है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत साजिद-वाजिद द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."मेंहदी वेंहदी ना"अलका याज्ञनिक4:44
2."आते आते"बाबुल सुप्रियो, अलका याज्ञनिक4:01
3."तू मेरे सामने"उदित नारायण, अलका याज्ञनिक4:25
4."मैं एक लड़की"सुनिधी चौहान3:57
5."चोरी चोरी चुपके"अलका याज्ञनिक3:56
6."अम्मा मेरे बाबुल"अफरोज़ बानो, फरीदा ख़ान4:18
7."कहना है आज"कुमार सानु, अलका याज्ञनिक5:31
8."रूठे यार नू"अदनान सामी, साबरी बंधु4:52

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "सिर्फ दो ही फिल्म में किया रानी ने जीजा अजय के साथ काम". दैनिक भास्कर. 20 मार्च 2018. मूल से 28 जनवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 जनवरी 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें