छछूंदर दुनिया भर में सबसे अधिक पाये जाने वाले जानवरों में से एक है। छछूंदर की करीब ३० प्रजातियाँ होती हैं, लेकिन इनमे से सिर्फ कुछ प्रजातियाँ ही अक्सर देखने को मिलती हैं। जमीन में लम्बी दरारों के अंदर या खेतों के आसपास छछूंदर अक्सर देखे जा सकते हैं। छछूंदर प्राय:धरती के नीचे गहरी सुरंग बनाते हैं और लगभग अपनी पूरी जिंदगी ही जमीन के नीचे अँधेरे में बिता देते हैं। छछूंदर एक ऐसे किलेनुमा बस्ती में रहते हैं, जो जमीन के नीचे ये स्वयं बनाते हैं। इनकी खोदने की क्षमता का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि यह एक खेत में ही २०० फुट से भी ज्यादा लम्बी एक सुरंग बड़ी आसानी से खोद सकते हैं और एक मिनट से भी कम समय में एक बिल खोदकर उसमे समा सकते हैं। दरअसल छछूंदर के पंजे बहुत शक्तिशाली होते हैं, जिनका आकार फावडे जैसा होता है। छछूंदर की सुरंगों की बनावट इतनी जटिल होती है कि दुसरे जानवरों के लिए इन सुरंगों में जाना सुरक्षित नहीं होता। आपको जानकार हैरानी होती है कि छछूंदर इतना भूखा जीव है कि यदि यह १२ घंटे तक भूखा रह जाये तो यह भूख के कारण दम तोड़ देता है।

छछूंदर
Talpa europaea MHNT Tete.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: Animalia
संघ: Chordata
वर्ग: Mammalia
अध:वर्ग: Eutheria
गण: Soricomorpha
कुल: Talpidae
in part
Genera

12 genera, see text

सन्दर्भसंपादित करें