छोटे आदमी की बड़ी कहानी राही मासूम रज़ा द्वारा लिखित जीवनी है। यह १९६५ के भारत-पाक युद्ध में शहीद हुए वीर अब्दुल हमीद के जीवन पर आधारित है।