मुख्य मेनू खोलें

जनसंख्या वृद्धि किसी भी क्षेत्र में लोगों की संख्या बढ़ने को कहा जाता है। पूरे दुनिया में मनुष्य की जनसंख्या हर साल लगभग 8.3 करोड़ या 1.1% की दर से बढ़ती जा रही है। वर्ष 1800 को पूरे विश्व की जनसंख्या लगभग एक अरब थी, जो 2017 तक बढ़ कर 7.6 अरब हो गई है। आगे भी इसकी संख्या में बढ़ाव की ही उम्मीद है और ये अंदाजा लगाया गया है कि 2030 के मध्य तक ये आबादी 8.6 अरब हो जाएगी और 2050 तक 9.8 अरब तक हो जाएगी। 2100 तक इसकी आबादी 11.2 अरब तक हो सकती है।

इतिहाससंपादित करें

18वीं सदी के दौरान जब औद्योगिक क्रांति शुरू हुई तो पश्चिमी देशों में बहुत ही तेजी से जनसंख्या वृद्धि शुरू हो गई थी। इस जनसंख्या वृद्धि के कारण को जानने के लिए ब्रिटिश वैज्ञानिक थॉमस मैककियोन (1912-1988) ने खोज शुरू किया था। उसने इस खोज से प्राप्त जानकारी का प्रकाशन मॉडर्न राइज़ ऑफ पॉप्युलेशन में किया।

देश अनुसार वृद्धि दरसंपादित करें

यूनाइटेड नेशन के अनुसार 1990 और 2010 के मध्य विश्व की जनसंख्या में 30% या 1.6 खरब मनुष्यों की वृद्धि हुई है। इस वृद्धि में सबसे आगे भारत (35 करोड़) और चीन (19.6 करोड़) हैं। प्रतिशत के हिसाब से यह संख्या सबसे ज्यादा संयुक्त अरब अमीरात में 315% और कतर में 271% है।

सबसे अधिक जनसंख्या वाले देशों का जनसंख्या वृद्धि दर
स्थान देश जनसंख्या
2010
जनसंख्या
1990
वृद्धि (%)
1990–2010
  विश्व 6,89,58,89,000 5,30,64,25,000 30.0%
1   चीनी जनवादी गणराज्य 1,34,13,35,000 1,14,51,95,000 17.1%
2   भारत 1,22,46,14,000 87,37,85,000 40.2%
3   संयुक्त राज्य 31,03,84,000 25,33,39,000 22.5%
4   इंडोनेशिया 23,98,71,000 18,43,46,000 30.1%
5   ब्राज़ील 19,49,46,000 14,96,50,000 30.3%
6   पाकिस्तान 17,35,93,000 11,18,45,000 55.3%
7   नाईजीरिया 15,84,23,000 9,75,52,000 62.4%
8   बांग्लादेश 14,86,92,000 10,52,56,000 41.3%
9   रूस 14,29,58,000 14,82,44,000 -3.6%
10   जापान 12,80,57,000 12,22,51,000 -4.7%

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें