जन्नू (Jannu) या कुम्भकर्ण (Kumbhakarna), जिसे लिम्बू भाषा में फोक्तंग लुंगमा (Phoktanglungma) कहते हैं, हिमालय का एक पर्वत है। यह कंचनजंघा से पश्चिम में पूर्वी नेपाल में स्थित है। यह विश्व का 32वाँ सर्वोच्च पर्वत है। किरात समुदाय में इस पर्वत को पवित्र माना जाता है।[2][3]

जन्नू / कुम्भकर्ण
Jannu / Kumbhakarna
Jannu from South.jpg
दक्षिण से जन्नू
उच्चतम बिंदु
ऊँचाई7,710 मी॰ (25,300 फीट) [1]
32वाँ सर्वोच्च
उदग्रता1,035 मी॰ (3,396 फीट)
निर्देशांक27°40′58″N 88°02′45″E / 27.68278°N 88.04583°E / 27.68278; 88.04583निर्देशांक: 27°40′58″N 88°02′45″E / 27.68278°N 88.04583°E / 27.68278; 88.04583
भूगोल
जन्नू / कुम्भकर्ण is located in नेपाल
जन्नू / कुम्भकर्ण
जन्नू / कुम्भकर्ण
नेपाल में स्थिति
स्थानपूर्वी नेपाल
मातृ श्रेणीहिमालय
आरोहण
प्रथम आरोहणअप्रैल 27–28, 1962
सरलतम मार्गचट्टान/हिम/बर्फ़ पर चढ़ाई

नामार्थसंपादित करें

लिम्बू भाषा में "फोक्तंग" का अर्थ "कंधा" और "लुंगमा" का "पर्वत" है, यानि फोक्तंगलुंगमा का मतलब "कंधों वाला पर्वत" है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Nepa Maps. Kangchenjunga [map], 1:120,000. Cartography by Himalayan Maphouse Pvt Ltd.. Section C6.
  2. Kangchenjunga (Map). 1:120,000. Cartography by Himalayan Maphouse Pvt Ltd. Nepa Maps. § C6.
  3. H. Adams Carter, "Classification of the Himalaya", American Alpine Journal 59 (1985), pp. 109–141