'श्री ललित शर्मा अध्यक्ष ऑल टू ऑल एग्रीकल्चर फाउन्डेसन भारत देश में आचार अहिंसा का खुलकर उलंघन होता है जो लोकतंत्र के लिए घातक शावित हो रहा है / भारत देश के लोकतंत्र बहुत कमजोर शासक बनता जारहा है ? हमारे देश के लोक्त्नर्त्रिक विधेयक के अनुसार कार्य नहीं होता है / अगर हमारे देश में लोकतंत्र में जातिवाद के नाम से लोग न जोड़े तो हमारे देश एक वेहतर विकाश शील देश बन जाएगा और देश में लोकतंत्र का मरियादा बना रहेगा / १ लोकतंत्र और राज्य तन्त्र में जातिवाद का मुर्दा नहीं उठना चाहिए वोट बैंक का मुर्दा नहीं उठाना चाहिए ? देक्यिए भारत देश में जाती वाद का राजनितिक लोग ज्यादा करते है की हमारी सरकार बनी रहे पर ए हर प्रकार से गलत है / २ हमारे भारत देश में बंगलादेशी पर रोक लगना चाहिए जिस तरह से भारत में बंगलादेशी की संख्या बड रही है इसे रोकना होगा नहीं तो देश एक दिन गुलाम होजायेगा / ३ भारत देश से अलग हूए पाकिस्तान में हिन्दू समाज को वोट देने का और चुनाव लड़ ने का अधिकार नहीं दिया है पाकिस्तान अमाम ने किया ए सही है ? फिर भारत में किओ नहीं ऐसा कोई कानुन बना है क्या हम दुसरो के देश अवाद करते रहे गे और और अपने भारत देश को खोखला करते रहेगा क्या ए सही है / हमारे देश के सभिधन हर देश से अच्छा है और सोव्च है फिर भी हमारे देश में गरीबो का विकाश नहीं होता है और देश में ६५ सालो से घोटाले ही घोटाले होरहे है और गरीब लोग वेरोजगारी से मर रहे है क्या ए सही है देश के लिए / मैं एक ही माग करता हु की जन्लोक्पाल बिल सरकार संसद में पारित करे और देश को भ्रष्टाचारियो से मुक्त करे और तुरंत कार्यवाई करे तभी देश की उन्ती होगी जनता का उन्ती होगी विकाश का उन्ती होगी आम आदमी का उन्ती होगी गरीबो की उन्ती होगी देश एक विकाशशील कीओर कदम बढाये गी जय हिंद /