Electrolysis.svg

जब जल से होकर विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है तो जल के अणुओं का विघटन हो जाता है और हाइड्रोजन एवं आक्सीजन प्राप्त होतीं हैं। इसे ही जल का विद्युत अपघटन (Electrolysis of water) कहते हैं। चूंकि शुद्ध जल, विद्युत का कुचालक है, इसलिये शुद्ध जल में बहुत कम मात्रा में अम्ल मिला दिया जाता है ताकि कम वोल्टता लगाकर ही जल से होकर आसानी से धारा प्रवाहित की जा सक

जल के विद्युत-अपघटन में दो आंशिक अभिक्रियाएं होती हैं, जो दो इलेक्ट्रोड (कैथोड और एनोड) पर होती हैं। इस रेडॉक्स अभिक्रिया की समग्र प्रतिक्रिया यह है-

(जहाँ T = 298 K, p = 1,013 × 105 Pa)

[[Image:Hofmann voltameter fr.svg|right|thumb|200px|हॉफमान का वोल्टामीटर का आरेख ; इसका उपयोग जल के विद्युत अपघटन के प्रदर्शन के लिए किया जाता है।] aap ise apne ghar pe bhi bana sakte hai aap apne ghar pe caustic soda or alluminium ko tatha jal milakar bhi ise bina kisi electricity ke ise aasani se cooker ka upyog karke aap ise bana sakte hai or iska upyog bhi kar sakte hai

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

  • जल का विद्युत अपघटन
  • अम्लीय जल में विधुत का चालन
  • "Electrolysis of Water". Experiments on Electrochemistry. मूल से 20 दिसंबर 2004 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि November 20, 2005.
  • "Electrolysis of Water". Do Chem 044. मूल से 14 मार्च 2006 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि November 20, 2005.
  • EERE 2008 - 100 kgH2/day Trade Study
  • NREL 2006 - Electrolysis technical report