हैपोउ जादोनां ( Haipou Jadonang) ब्रिटिशशासित भारत के मणिपुर के एक आध्यात्मिक नेता एवं राजनैतिक कार्यकर्ता थे। उन्होने 'हेरका' नामक धार्मिक आन्दोलन चलाया। अंग्रेजों ने उन्हें १९३१ में फांसी पर लटका दिया। उनकी चचेरी बहन रानी गाइदिन्ल्यू ने उनके इस कार्य को आगे बढ़ाया।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 26 अगस्त 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 सितंबर 2015.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें