मुख्य मेनू खोलें

टोक्यो (जापानी: 東京, उच्चारणः तोउक्योउ) जापान की राजधानी और सबसे बड़ा नगर है। यह जापान के होन्शू द्वीप पर बसा हुआ है और इसकी जनसंख्या लगभग ८६ लाख है, जबकि टोक्यो क्षेत्र में १.२८ करोड़ और उपनगरीय क्षेत्रों को मिलाकर यहाँ अनुमानित ३.७ करोड़ लोग रहते हैं जो इसे दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला महानगरीय क्षेत्र बनाता है। टोक्यो लगभग ८० किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है और यह क्षेत्रफल की दृष्टि से भी विश्व का सबसे बड़ा नगरीय क्षेत्र है।

टोक्यो
東京都
राजधानी/महानगर
टोक्यो मेट्रोपोलिस
ऊपर से दक्षिणावर्त: निशि-शिंजुकु व्यावसायिक जिला, रेनबो ब्रिज, नेशनल डाइट बिल्डिंग, शिबुया, टोक्यो स्काईट्री
ऊपर से दक्षिणावर्त: निशि-शिंजुकु व्यावसायिक जिला, रेनबो ब्रिज, नेशनल डाइट बिल्डिंग, शिबुया, टोक्यो स्काईट्री
Flag of टोक्यो
Flag
Official seal of टोक्यो
Seal
Official logo of टोक्यो
प्रतीक
गान: टोक्यो मेट्रोपॉलिटन गान (東京都歌 Tōkyō-to Ka?)[1]
जापान में टोक्यो
जापान में टोक्यो
निर्देशांक: 35°41′23″N 139°41′32″E / 35.68972°N 139.69222°E / 35.68972; 139.69222निर्देशांक: 35°41′23″N 139°41′32″E / 35.68972°N 139.69222°E / 35.68972; 139.69222
देशFlag of Japan.svg जापान
क्षेत्रकांतो
द्वीपहोंशु
प्रभाग२३ विशेष वार्ड, २६ शहर, १ जिला और ४ उप-क्षेत्र
शासन
 • प्रणालीमहानगर
 • गवर्नरयुरिको कोइके (टॉमिन फर्स्ट नो काई)
 • राजधानीटोक्यो[2]
 • हाउस ऑफ़ रेप्रेसेंटेटिव42
 • हाउस ऑफ़ काउंसिलर्स11
क्षेत्रफल
 • राजधानी/महानगर2193.96 किमी2 (847.09 वर्गमील)
 • थल406.58 किमी2 (156.98 वर्गमील)
 • महानगर13572 किमी2 (5,240 वर्गमील)
क्षेत्र दर्जा45वॉ
ऊँचाई40 मी (130 फीट)
जनसंख्या (जून 2019)
 • राजधानी/महानगर13
 • घनत्व6349 किमी2 (16,440 वर्गमील)
 • महानगर[3]38
 • महानगरीय घनत्व2662 किमी2 (6,890 वर्गमील)
 • 23 वार्ड9
 (2015 प्रति प्रान्त सरकार)
वासीनाम江戸っ子 (एदोक्को), 東京人 (टोक्यो-जीन), 東京っ子 (टोक्योक्को), टोक्योइट
जीडीपी (नॉमिनल; 2015)[4][5][6]
 • कुल$869 बिलियन
 • प्रति व्यक्ति$64,269
समय मण्डलजापान मानक समय (यूटीसी+9)
ISO 3166-2जेपी-13
फूलचेरी ब्लॉसम
पेड़जिन्को बाइलोबा (जिन्कगो बिलोबा)
पक्षीकाले सिर वाला गल (लार्स रिडिंडस)
वेबसाइटwww.metro.tokyo.jp/english/
टोक्यो
Tokyo (Chinese characters).svg
टोक्यो कांजी में
शाब्दिक अर्थ पूर्वी राजधानी
जापानी नाम
कांजी लिपि 東京
Kyūjitai 東亰

टोक्यो को अक्सर एक शहर के रूप में जाना जाता हैं, लेकिन आधिकारिक तौर पर यह "महानगरीय प्रान्त" के रूप में जाना जाता हैं। टोक्यो महानगरीय प्रशासन, टोक्यो के 23 विशेष वार्डों (प्रत्येक वार्ड़ एक अलग शहर के रूप में शासित) का संचालन करती हैं। महानगरीय सरकार, प्रान्त के पश्चिमी भाग और दो बाहरी द्वीप श्रृंखलाएं के 39 नगरपालिका का भी प्रशासन करती हैं। विशेष वार्ड की आबादी 90 लाख मिलाकर, प्रान्त की कुल जनसंख्या 130 लाख से अधिक हैं। यह प्रान्त दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले महानगरीय क्षेत्र का हिस्सा है, जिसमें 37.8 मिलियन लोग और विश्व के सबसे बड़े शहरी ढांचे की अर्थव्यवस्था शामिल हैं। शहर की 51 कंपनी, फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनियों में आती हैं, जोकि दुनिया के किसी भी शहर की सबसे बड़ी संख्या हैं। अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्र विकास सूचकांक में टोक्यो का तीसरा स्थान हैं। यह शहर फ़ुजी टीवी, टोक्यो एमएक्स, टीवी टोक्यो, टीवी असाही, निप्पॉन टेलीविजन, एनएचके और टोक्यो ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम जैसे विभिन्न टेलीविजन नेटवर्कों का घर भी हैं।

ग्लोबल इकनॉमिक पावर इंडेक्स में टोक्यो पहले स्थान पर और ग्लोबल सिटीज इंडेक्स में चौथा स्थान पर हैं। जीएडब्ल्युसी की 2008 की सूची में इसे वैश्विक शहर बताया गया और 2014 में ट्रिपएडवियर्स के विश्व शहर सर्वेक्षण, टोक्यो को सबसे "सर्वश्रेष्ठ समग्र अनुभव" के रूप में सूचीबद्ध किया गया।[7] मर्सर कंसल्टेंसी फर्म[8] और अर्थशास्त्री इंटेलिजेंस यूनिट के क्रय शक्ति के आधार पर, 2015 में टोक्यो को 11वें सबसे महंगे शहर के रूप में स्थान दिया गया था।[9] 2015 में, टोक्यो को मोनोकले पत्रिका द्वारा दुनिया में सर्वाधिक जीवंत शहर कहा गया।.[10] सुरक्षित शहर सूचकांक में टोक्यो दुनिया में सबसे पहले स्थान पर है।[11] टोक्यो ने 1964 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक, 1979 जी-7 शिखर सम्मेलन, 1986 जी-7 शिखर सम्मेलन और 1993 जी-7 शिखर सम्मेलन की मेजबानी की, और यह 2020 में ग्रीष्मकालीन ओलंपिक और 2020 ग्रीष्मकालीन पैराएलिंपिक की मेजबानी करेगा।

Lo districte de Shibuya, a Tòquio.

नामसंपादित करें

टोक्यो को मूल रूप से ईडो के नाम से जाना जाता था, जिसका जापानी में अर्थ है मुहाना। १८६८ में जब इसे जापान की राजधानी बनाया गया तो इसका नाम बदलकर टोक्यो (तोउक्योउ: तोउ (पूर्व) + क्योउ (राजधानी)) कर दिया गया। आरम्भिक मेइजी काल में, इस नगर को "तोउकेइ" के नाम से भी जाना जाता था जो चीनी भाषा में लिखे गए शब्द के लिए वैकल्पिक उच्चारण था। बहुत से पुराने अंग्रेज़ी दस्तावेज़ो में अभी भी "टोकेई" (Tokei) लिखा जाता है लेकिन अब यह अप्रचलित शब्द है और "टोक्यो" शब्द का ही अब उपयोग किया जाता है।

इतिहाससंपादित करें

टोक्यो मूलतः एक छोटा मछली पकड़ने गांव था जो ईदो नामित किया गया था।

इसे पहली बार ईदो वंशावली द्वारा, उत्तरोत्तर १२ वीं शताब्दी में किलाबद्ध किया गया था।

१४५७ में, ओटा दोकान ने ईदो कैसल बनाया। १५९० में, तोकुगावा ईयासु ने ईदो को अपना आधार बनाया और जब वह १६०३ में शोगुन बन गया, तो नगर देश में सैनिक शासन का केन्द्र बन गया। बाद में पश्चाद्गामी ईदो अवधि के दौरान, ईदो १८ वीं सदी में १० लाख की जनसंख्या के साथ दुनिया के सबसे बड़े नगरों में से एक बन गया।


प्रशासनिक प्रभागसंपादित करें


२३ विशेष वार्डसंपादित करें

मुख्य लेख: टोक्यो के विशेष वार्ड

विशेष वार्ड या तोकूबेत्सू-कू, टोक्यो के वे क्षेत्र हैं जो पहले औपचारिक रूप से टोक्यो नगर था। १ जुलाई, १९४३ को, टोक्यो नगर को टोक्यो प्रीफ़ेक्चर के साथ मिला दिया गया जो वर्तमान "महानगर प्रीफ़ेक्चर" बना। परिणामस्वरूप, जापान में अन्य नगर वार्डों से अलग, ये वार्ड किसी विशाल महानगर का भाग नहीं हैं। प्रत्येक वार्ड एक नगरपालिका है जिसका स्वयं का चयनित महापौर और विधानसभा होती है। टोक्यो के विशेष वार्ड हैं - शिबुया , शिनागावा , शिंजुकु , एडोगवा आदि।

जलवायु और भूकम्प विज्ञानसंपादित करें


जनसांख्यिकीसंपादित करें

टोक्यो की जनसंख्या[12]
क्षेत्रफलानुसार

टोक्यो
विशेष वार्ड
टामा क्षेत्र
द्वीप

१.२७९ करोड़
८६.५३ लाख
४१.०९ लाख
२८,०००

आयु अनुसार

तरुण (आयु ०-१४)
कार्यशील (आयु १५-६४)
सेवानिवृत (आयु ६५+)

१४.६१ लाख (११.८%)
८५.४६ लाख (६९.३%)
२३.३२ लाख (१८.९%)

घंटे अनुसार

दोपहर
रात्री

१.४९७८ करोड़
१.२४१६ करोड़

राष्ट्रीयतानुसार

विदेशी निवासी

३,६४,६५३

१ अक्टूबर २००७ तक का अनुमान।

१ जनवरी २००७ तक का।

२००५ की राष्ट्रीय जनगणना तक का।

१ जनवरी २००६ तक का।

अक्टूबर २००७ तक, आधिकारिक अंतरजनगणनीय अनुमानो के आधार पर टोक्यो में १.२७९ करोड़ लोग निवास करते हैं, जिन्में से ८६.५३ लाख टोक्यो के २३ वार्डों में निवास करते हैं। दोपहर के समय, जनसंख्या में लगभग २५ लाख की वृद्धि हो जाती है क्योंकि कर्मिक और विद्यार्थी आसपास के क्षेत्रों से टोक्यो में आते हैं। यह स्थिति तीन केन्द्रीय वार्डों चियोदा, चूओ और मिनातो में और अधिक स्पष्ट होती है, जिनकी २००५ की राष्ट्रीय जनगणना के अनुसार सामूहिक जनसंख्या रात्री के समय ३,२६,०० होती थी, पर दोपहर के समय २४ लाख तक पहुँच जाती थी।

समूचे प्रिफ़ेक्चर में २००७ में १,२७,९०,००० (२३ वार्डों में ८६,५३,०००) निवासी थे, जिसमें दोपहर के समय ३० लाख की वृद्धि होती थी। टोक्यो की अब तक की सर्वाधिक जनसंख्या १९६५ की जनगणना में थी, जब २३ वार्डों की आधिकारिक जनसंख्या ८८,९३,०९४ थी और १९९५ की जनगणना में यह संख्या ८० लाख से नीचे चली गई।[कृपया उद्धरण जोड़ें] लेकिन उसके बाद से लोग भूमि के दाम गिरने के कारण नगर के भीतरी भाग में बसते रहे।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

२००५ तक, टोक्यो मे रहने वाले विदेशियों में सर्वाधिक जनसंख्या चीनीयों (१,२३,६६१) की है, फिर कोरियाई (१,०६,६९७), फ़िलिपीनो (३१,०७७), अमेरिकी (१८,८४८), ब्रिटिश (७,६९६), ब्राज़ीलियाई (५,३००) और फ़्रांसीसी (३,०००)[13]

१८८९ की जनगणना में [तथ्य वांछित], टोक्यो में १३,८९,६०० लोग दर्ज किए गए थे, जो उस समय जापान में सर्वाधिक थे।

अर्थव्यवस्थासंपादित करें

 
टोक्यो शेयर बाज़ार

टोक्यो, विश्व अर्थव्यवस्था का संचालन करने वाले तीन केन्द्रों में से एक है, अन्य दो हैं लंदन और न्यूयॉर्क। टोक्यो विश्व की सबसे बड़ी महानगरीय अर्थव्यवस्था भी है। प्राइसवॉटरहाउसकूपर्स द्वारा कराए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार टोक्यो नगरीय क्षेत्र (३.५२ करोड़) का कुल सकल घरेलू उत्पाद वर्ष २००८ में क्रय शक्ति के आधार पर १,४७९ अरब अमेरिकी डॉलर था जो सूची में सर्वाधिक था। २००८ की स्थिति तक, ग्लोबल ५०० में सूचीबद्ध समवायों में से ४७ के मुख्यालय टोक्यो में स्थित हैं, जो दूसरे स्थान के नगर पैरिस से लगभग दोगुने हैं।

टोक्यो, विश्व का एक प्रमुख वित्तीय केन्द्र भी है, जहाँ पर विश्व के सबसे बड़े निवेश बैंको और बीमा समवायों के मुख्यालय स्थित हैं और यह नगर जापान के परिवहन, प्रकाशन और प्रसारण उद्योगों का एक प्रमुख केन्द्र भी है। द्वितीय विश्व युद्ध के पश्चात जापान की केन्द्रीयकृत वृद्धि के दौरान, बहुत से व्यवसाय-संघ अपने मुख्यालय ओसाका से टोक्यो ले गए ताकी सरकार तक उत्तमतर पहुँच हो सके। लेकिन टोक्यो में बढ़ती जनसंख्या और महँगे जीवन स्तर के कारण अब इस चलन में कमी आने लगी है।

इकॉनमिस्ट इण्टेलिजेन्स यूनिट द्वारा टोक्यो को विश्व के सबसे महँगे नगर के रूप में मूल्यांकित किया जो लगातार १४ वर्षों तक जारी रहा और २००६ में जाकर समाप्त हुआ। यह विश्लेषण निगमीय कार्यकारी जीवन शैली के लिए था, जिसमें असंलग्न घर और बहुत से वाहनों जैसे मदों को सम्मिलित किया गया था।

टोक्यो शेयर बाज़ार, जापान का सबसे बड़ा शेयर बाज़ार है और बाज़ारी पूँजीकरण के आधार पर विश्व में दूसरा सबसे बड़ा और शेयर बिक्री के आधार पर चौथा सबसे बड़ा। १९९० के अन्त में जापानी परिसंपत्ति मूल्य गुबार के समय इसकी विश्व स्टॉक बाज़ार निधि में ६०% की भागीदारी थी।

परिवहनसंपादित करें

टोक्यों, वृहदतर टोक्यों क्षेत्र का केन्द्र होने के कारण, जापान का सबसे बड़ा घरेलू और अन्तर्राष्ट्रीय रेल, वायु और भूतलीय परिवहन का केन्द्र- बिन्दू है। टोक्यो का सार्वजनिक परिवहन साफ-सुथरे और कुशल ट्रेनों और भूमिगत रेलों का विशाल तन्त्र है जो विभिन्न संचालकों द्वारा संचालित किया जाता है, जिसमें बसें, मोनोरेल और ट्रामें गौण और सहायक परिवहन की भूमिका में है।

ओटा के भीतर, जो २३ विशेष वार्डों में से एक है, स्थित टोक्यों अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा ("हानेदा") घरेलू विमान सेवा प्रदान करता है, जबकि चीबा प्रेइफेक्चर में स्थित नरिता अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, जापान आने वाले यात्रियों के लिए जापान का प्रवेशद्वार है।

 
टोक्यो मेट्रो मार्ग का मानचित्र

रेलें, टोक्यो में परिवहन का प्रमुख साधन हैं और टोक्यो का रेल तन्त्र विश्व का सबसे विशाल महानगरीय रेल तन्त्र है और सतही मार्गों का भी इतना ही विशाल तन्त्र है। जेआर ईस्ट, टोक्यो के सबसे बड़े रेल तन्त्र का संचालन करता है, जिसमें यामानोते लूप लाइन भी सम्मिलित है जो डाउनटाउन टोक्यो के केन्द्र का चक्कर लगाती है। दो संगठन भूमिगत तन्त्र का संचालन करते हैं: निजी टोक्यो मेट्रो और सरकारी टोक्यों महानगर परिवहन ब्यूरो। महानगरीय सरकार और निजि वाहक बस मार्गों को संचालित करते है। स्थानीय, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय सेवाएं विशाल रेलमार्ग स्टेशनों पर स्थित प्रमुख टर्मिनलों पर से उपलब्ध हैं।

एक्स्पेस-मार्ग राजधानी को वृहद्तर टोक्यो क्षेत्र के अन्य बिन्दुओं से जोड़ते हैं, जैसे कान्तो क्षेत्र और क्युशु और शिकोकू द्वीप।

अन्य परिवहन के साधन है टेक्सियां जो विशेष वार्डों और नगरो और कस्बों में सेवाएं प्रदान करती हैं। लम्बी दूरी की नौकाएं टोक्यो के द्वीपों पर सेवाएं प्रदान करती है और यात्रियों और कार्गो (सामान) को घरेलू और विदेशी बन्दरगाहों तक लाती-ले जाती हैं।

शिक्षासंपादित करें

टोक्यो में बहुत से विश्वविद्यालय, जूनियर कॉलेज और वोकेश्नल स्कूल हैं। जापान के बहुत से नामी विश्वविद्यालयों में से कई टोक्यो में स्थित हैं, जिनमें टोक्यो विश्वविद्यालय, हितोत्सूबाशी विश्वविद्यालय, टोक्यो प्रौद्योगिकी संस्थान, वासीदा विश्वविद्यालय और कीओ विश्वविद्यालय सम्मिलित हैं। सर्वाधिक बडे़ राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में से टोक्यों में निम्नलिखित स्थित है:

  • ओचानोमिज़ू विश्वविद्यालय
  • वैद्युत-संचार विश्वविद्यालय
  • टोक्यो विश्वविद्यालय
  • टोक्यो आयुर्विज्ञान और दन्त विश्वविद्यालय
  • टोक्यो विदेशी शिक्षा विश्वविद्यालय
  • टोक्यो समुद्री विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • टोक्यो गाकूजेई विश्वविद्यालय
  • टोक्यो कला विश्वविद्यालय
  • टोक्यो प्रौद्योगिकी संस्थान
  • टोक्यों कृषि एवँ प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • हितोत्सूबाशी विश्वविद्यालय

खेलकूदसंपादित करें

टोक्यो में विविध प्रकार के खेल खेले जाते हैं और यह दो पेशेवर बेसबॉल क्लबों का घर है, योमियूरी जायंट्स जो टोक्यो डोम में खेलते हैं और टोक्यो याकुल्ट स्वैलोज जो मेइजेई-जिंगू स्टेडियम में खेलते हैं। जापान सूमो संघ का मुख्यालय भी टोक्यो में र्योगोकू कोकूजिकन सूमो एरीना में स्थित है जहाँ पर तीन वार्षिक आधिकारिक सूमो प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाती हैं (जनवरी, मई और सितंबर)। टोक्यो के फुटबॉल क्लब हैं एफ. सी. टोक्यो और टोक्यो वेर्डी १९६९ और दोनों ही अजिनोमोतो स्टेडियम, चोफू में खेलते हैं।

टोक्यो ने १९६४ ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक की मेज़बानी की थी। नैश्नल स्टेडियम, जिसे ओलंपिक स्टेडियम, टोक्यो के नाम से भी जाना जाता है में बहुत सी अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। टोक्यो के बहुत से विश्व-स्तरीय खेल स्थलों में बहुत सी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जैसे टेनिस, तैराकी, मैराथन, जूड़ो, कराटे, इत्यादि।

संस्कृतिसंपादित करें


पर्यटन स्थलसंपादित करें

टोक्यो के पर्यटन स्थल निम्नलिखित हैं:

शाही महल

शाही महल जापान के राजा का आधिकारिक निवास है। इस महल में जापानी परंपराओं को देखा जा सकता है। महल में बहुत से सुरक्षा भवन और दरवाजें हैं। यहां की सबसे प्रसिद्ध जगहों में से कुछ हैं- ईस्ट गार्डन, प्लाजा और निजुबाशी पुल। यह महल सम्राट के जन्मदिन के दिन जनता के लिए खोला जाता है।

टोक्यो टावर

इस टावर का निर्माण १९५८ में हुआ था। ३३३ मीटर ऊंचा यह टावर एफिल टावर से भी १३ मीटर ऊंचा है। यहां पर दो वेधशालाएं हैं जहाँ से टोक्यो का दृश्य देखा जा सकता है। साफ़ मौसम में यहां से माउंट फ़्यूजी भी दिखता है। मुख्य वेधशाला १५० मीटर ऊंची है और विशेष वेधशाला २५० मीटर ऊंची है। इस टावर के अंदर टोक्यो टावर मोम संग्रहालय, रहस्मय पैदल क्षेत्र और हस्तलाघव कला गलियारा भी है।

असाकुसा श्राइन

दंतकथाओं के अनुसार सैकड़ों वर्ष पहले हिरोकुमा बंधुओं के मछली पकड़ने के जाल में कैनन की प्रतिमा फंस गई। तब गांव के मुखिया ने वहां प्रतिमा की स्थापना की। इन तीन लोगों को समर्पित असाकुसा श्राइन की स्थापना १६४९ में हुई थी। इसके बाद इस मंदिर का एक उपनाम संजा-समा पड़ा। यह टोक्यो का सबसे प्रमुख मंदिर है। मई के महीने में यहां संजा उत्सव भी मनाया जाता है।

मीजी जिंगू श्राइन

यह मंदिर शिंतो वास्तुकला का उत्तम नमूना है। इसका निर्माण १९२० में यहां के शासक मीजी (१९१२) की स्मृति में किया गया था। ७२ हैक्टेयर में फैले पेड़ों और मीजी जिंगू पार्क की जापानी वनस्पतियों से घिरा यह स्थान जापानी की सबसे सुन्दर और पवित्र जगहों में से एक है।

अमेयोको

अमेयोको में जूतों से लेकर कपड़ों तक, हर प्रकार की उपभोक्ता वस्तु खरीदी जा सकती हैं। बालों पर लगाने वाली क्रीम हो या छतरी यहां सब कुछ मिलता है। यह बाजार उएनो स्टेशन के पास है इसलिए यहां आने वाले लोग इस बाजार में आना पसंद करते हैं। यदि आप जापान के कामकाजी लोगों को निकट से देखना चाहते हैं और अद्भुत चीजें कम दाम पर खरीदना चाहते हैं तो यह जगह बिल्कुल उपयुक्त है।

इन्द्रधनुषी पुल

इस अनोखे नाम का कारण इस पुल पर रात को जलने वाली रंगबिरंगी रोशनी हैं। यह पुल मिनटोकु और ओडैबा को जोड़ता है। यहां पर आठ यातायात लेन और दो रेलमारग हैं। पैदल चलने वालों के लिए भी रास्ता है। यह पुल १९९३ में चालू किया गया था। इस पुल की सुन्दरता को देखने का एक अन्य उपाय है मोनोरल, जो शिम्बाशी से चलती है। इसके अतिरिक्त हिनोक पीयर से असाकुसा के बीच क्रूज से यात्रा करके इसकी सुन्दरता को निहारा जा सकता है।

समय: सुबह ९ बजे से रात ९ बजे तक, अप्रैल से अक्टूबर: सुबह १० बजे से शाम ६ बजे तक

महीने के तीसर सोमवार और राष्ट्रीय अवकाश के दिन बंद

तोशोगु मंदिर

इस मंदिर का मुख्य आकर्षण पत्थर की बनी ५० विशाल लालटेन हैं। इनमें से कई सामंती दासों द्वारा दान की गई थीं। यहां का मुख्य भवन जिसका निर्माण १६५१ में हुआ था, सोने से बनी थी। इसे बनाने का श्रेय तीसर शोगुम इमीत्सु तोकुगावा को जाता है। यह मंदिर जापान की राष्ट्रीय संपदा का भाग है।

सूमो संग्रहालय

सूमो रसलिंग जापान का सबसे प्रसिद्ध खेल है। इस संग्रहालय में समारोह के दौरान पहले जाने वाले कपड़ों, सूमो वस्त्रों, रैफरी के पैडलों को प्रदर्शित किया गया है और प्रसिद्ध रसलरों के बार में बताया गया है। यह संग्रहालय नेशनल सूमो स्टेडियम के साथ बना है।

गिंजा

गिंजा जापान का और कदाचित एशिया का सबसे अच्छा और भव्य शॉपिंग एरिया है। दुनिया भर के प्रसिद्ध ब्रैण्ड स्टोर यहां मिल जाएंगे। मित्सुकोशी, मत्सुया और मत्सुजकाया डिपार्टमेंटल स्टोर यहां हैं, साथ ही यामहा म्यूजिक शॉप और सबसे मशहूर कॉस्मेटिक्स शीसेडो भी यहां हैं। गिंजा कार्यालय में काम करने वालों से लेकर विद्यार्थियों तक को पसंद आता है। यहां पर मदिरा, पानी और खाना खाने की कई जगहें मिल जाएंगी। इनमें साधारण और महंगी दोनों तरह के स्थान सम्मिलित हैं।

नेशनल म्यूजियम ऑफ वेस्टर्न आर्ट

यह संग्रहालय पर्यटकों के बीच बहुत की प्रसिद्ध है क्योंकि यहां सुदूर पूर्व में पश्चिमी कला का आधुनिकतम संग्रह है। इस संग्रह के पीछे का इतिहास बहुत रोचक है। सैन फ़्रांसिस्को शांति समक्षौते में कहा गया कि कोजिरो मत्सुकाता संग्रह जो द्वितीय विश्वयुद्ध के समय फ़्रांस के पास चला गया था, अब फ्रांस की संपत्ति होगा। बाद में फ्रांस सरकार ने यह संग्रह जापान को वापस कर दिया। यह संग्रहालय १९५९ में खुला था।

कुल मिलाकर देखें तो यह शहर आधुनिकता और परंपराओ का एक अनुपम उदाहरण है। अत्याधुनिक महानगर होते हुए भी इसने अपनी परंपराओं को छोड़ा नहीं है। यहां आपको जापान की उन्नति दिखाई देगी, तो साथ ही इसकी संस्कृति भी।

नगर दृश्यावलीसंपादित करें

 
माउंट फूजी का विहंगम दृश्य
 
टोक्यो इम्पीरियल पैलेस का विहंगम दृश्य
 
टोक्यो इम्पीरियल महल में सकूरा

भगिनी नगरसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. 東京都歌・市歌 (जापानी में). Tokyo Metropolitan Government. मूल से September 11, 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि September 17, 2011.
  2. "Archived copy" 都庁は長野市. Tokyo Metropolitan Government. मूल से April 19, 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि April 12, 2014. Shinjuku is the location of the Tokyo Metropolitan Government Office. But Tokyo is not a "municipality". Therefore, for the sake of convenience, the notation of prefectural is "Tokyo".
  3. United Nations (March 12, 2017). "The World's Cities in 2016" (PDF). United Nations. मूल से January 12, 2017 को पुरालेखित (PDF).
  4. "Archived copy" 都民経済計算(都内総生産等)平成27年度年報. www.metro.tokyo.jp. मूल से August 21, 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि August 21, 2018.
  5. "Yearly Average Rates". OFX. मूल से March 16, 2015 को पुरालेखित.
  6. "2015 Japan Population" (PDF). मूल से April 3, 2018 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि August 21, 2018.
  7. "GaWC – The World According to GaWC 2008". Lboro.ac.uk. April 13, 2010. अभिगमन तिथि October 29, 2010.
  8. "2015 Cost of Living Rankings". Mercer. Mercer LLC. June 17, 2015. अभिगमन तिथि October 17, 2015.
  9. "Uptown top ranking". The Economist. June 17, 2015. अभिगमन तिथि October 17, 2015.
  10. "The Monocle Quality of Life Survey 2015 – Film".
  11. "Safe Cities Index 2015 Infographic – NEC: Safe Cities". January 7, 2015.
  12. "टोक्यो की जनसंख्या". टोक्यो महानगरीय सरकार. अभिगमन तिथि 2009-01-01.
  13. "टोक्यो सांख्यिकीय वार्षिकपुस्तिका २००५, जनसंख्या". ब्यूरो ऑफ़ जनरल अफ़ेयर्स, टोक्यो मेट्रोपॉलिटन गवर्न्मेन्ट. अभिगमन तिथि 2007-10-14.
  14. "Sister Cities (States) of Tokyo - Tokyo Metropolitan Government". अभिगमन तिथि 2008-09-16.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें