जिन्गपो (बर्मी: ကချင်ဘာသာ) तिब्बती-बर्मी भाषा-परिवार की ब्रह्मपुत्री शाखा (जो साल शाखा भी कहलाती है) की एक भाषा है। यह ज़्यादातर बर्मा के उत्तर में स्थित कचिन राज्य में रहने वाले जिन्गपो समुदाय द्वारा बोली जाती है, हालांकि इसके कुछ मातृभाषी भारतचीन में भी रहते हैं। यह अधिकतर रोमन लिपि में लिखी जाती है हालांकि कुछ लोग इसे बर्मी लिपि में भी लिखते हैं।[1][2]

जिन्गपो भाषा
कचिन भाषा
जातियाँ: जिन्गपो लोग
भौगोलिक
विस्तार:
कचिन राज्य, युन्नान प्रान्त, अरुणाचल प्रदेश
भाषा श्रेणीकरण: चीनी-तिब्बती
उपश्रेणियाँ:
आइसो ६३९-२६३९-५: kac

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Inglish, Douglas. 2005. A Preliminary Ngochang - Kachin - English Lexicon. Payap University, Graduate School, Linguistics Department.
  2. Kurabe, Keita. 2014. "Phonological inventories of seven Jingphoish languages and dialects." In Kyoto University Linguistic Research 33: 57-88, Dec 2014.