जीएमआर समूह (GMR Group) भारत में अधोसंरचना विकास की प्रमुख कम्पनी है। इसका मुख्यालय बंगलुरू में है। इसकी संस्थापना सन् १९७८ में हुई थी। यह समूह हवाई अड्डों का निर्माण, ऊर्जा, सड़क, कृषि एवं उड्ड्यन क्षेत्र में सक्रिय है। यह समूह कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत सामुदायिक विकास में योगदान देता है और अपने सामाजिक उत्तरदायित्व को निभाने में भी अग्रणी है। अप्रैल 2021 में, जीएमआर समूह ने जीएमआर हैदराबाद एयरपोर्ट सिटी के शुभारंभ की घोषणा की,[1] जो राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के आसपास 1,500-एकड़ (6.1 कि॰मी2) में फैले भारत में सबसे बड़ा एरोट्रोपोलिस होने का प्रस्ताव है,[2] और बिल किया जा रहा है "कार्यालय अंतरिक्ष, खुदरा, अवकाश, मनोरंजन, आतिथ्य, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, एयरोस्पेस और रसद को कवर करने वाला एकीकृत पारिस्थितिकी तंत्र" के रूप में। सितंबर 2021 में, जीएमआर ग्रुप ने कहा कि वह हवाई अड्डे पर मेट्रो कनेक्टिविटी के लिए 519.52 करोड़ का निवेश करेगी।[3][4]

जी एम आर समूह
GMR Group
प्रकार निजी कंपनी
उद्योग निर्माण सेवाएं
उत्तरवर्ती उसका पुत्र
स्थापना 1978
संस्थापक ग्रांधी मल्लिकार्जुन राव
मुख्यालय बंगलुरु, भारत
स्थान संख्या मालदीव, तुर्की, भारत
उत्पाद विमानक्षेत्र, ऊर्जा, राजमार्ग एवं शहरी अवसंरचना, हट्स
सेवाएँ निर्माण
लाभ साँचा:रुपये 2.6 अरब
कर्मचारी 17,000
वेबसाइट www.gmrgroup.co.in
चित्र:GMR Logo.svg
जीएमआर समूह का प्रतीक चिह्न

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "GMR launches 'AeroCity' at Hyderabad Airport".
  2. "GMR Group launches AeroCity spread over 1,500 acres around Hyderabad Airport".
  3. "GHIAL to invest Rs 500 crore for metro connectivity at Hyderabad airport".
  4. "GMR to invest over Rs 500 crore in Hyderabad Airport metro link project".

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें