दिल्ली का सबसे पुराना जैन मंदिर लाल किला और चांदनी चौक के सामने स्थित है। इसका निर्माण 1526 में हुआ था[1]। वर्तमान में इसकी इमारत लाल पत्थरों की बनी है। इसलिए यह लाल मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यहां कई मंदिर हैं लेकिन सबसे प्रमुख मंदिर भगवान महावीर का है जो जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे। यहां जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ की प्रतिमा भी स्थापित है। जैन धर्म के अनुयायियों के बीच यह स्थान बहुत लोकप्रिय है। यहां का शांत वातावरण लोगों का अपनी ओर खींचता है।

श्री दिगम्बर जैन लाल मंदिर
Digambar Jain Lal Mandir, Chandni Chowk, Delhi.jpg
चाँदनी चौक, दिल्ली
धर्म संबंधी जानकारी
त्यौहारमहावीर जयंती
अवस्थिति जानकारी
राज्यदिल्ली
देशभारत
जैन लाल मंदिर, दिल्ली की नई दिल्ली के मानचित्र पर अवस्थिति
जैन लाल मंदिर, दिल्ली
नई दिल्ली के मानचित्र पर अवस्थिति
भौगोलिक निर्देशांक28°39′20.8″N 77°14′10.6″E / 28.655778°N 77.236278°E / 28.655778; 77.236278निर्देशांक: 28°39′20.8″N 77°14′10.6″E / 28.655778°N 77.236278°E / 28.655778; 77.236278
वास्तु विवरण
निर्माण पूर्ण१५२६

मुगल साम्राज्य में मंदिरों के शिखर बनाने की अनुमति नहीं थी। इसलिए इस मंदिर का कोई औपचारिक शिखर नहीं था।[2] बाद में स्वतंत्रता प्राप्ति उपरांत इस मंदिर का पुनरोद्धार हुआ।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bharat ke Digambar Jain Tirth, Volume 1, Balbhadra Jain, 1974
  2. Beyond Turk and Hindu: Rethinking Religious Identities in Islamicate South Asia By David Gilmartin, Bruce B. Lawrence, University Press of Florida, 2000