सर जॉन वारकप कॉर्नफोर्थ, जूनियर,[1] (7 सितम्बर 1917 – 14 दिसम्बर 2013), ऑस्ट्रेलियाई – ब्रितानी रसायनज्ञ थे जिन्होंने 1975 में प्रकिण्व-उत्प्रेरक अभिक्रिया की त्रिविम रसायन पर कार्य के लिए रसायन शास्त्र में नोबेल पुरस्कार प्राप्त किया।[2] 14 दिसम्बर 2013 को उनका 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया।[3]

सर जॉन कॉर्नफोर्थ

जॉन कॉर्नफोर्थ (1975)
जन्म जॉन वारकप कॉर्नफोर्थ, जूनियर
7 सितम्बर 1917
सिडनी, ऑस्ट्रेलिया
मृत्यु 14 दिसम्बर 2013(2013-12-14) (उम्र 96)
आवास ब्राइटन, यूनाइटेड किंगडम
नागरिकता ऑस्ट्रेलियाई,
ब्रितानी
राष्ट्रीयता ऑस्ट्रेलियाई
क्षेत्र कार्बनिक रसायन
संस्थान ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय,
ससेक्स विश्वविद्यालय
शिक्षा सिडनी विश्वविद्यालय,
सेंट कैथरीन कॉलेज, ऑक्सफोर्ड
डॉक्टरी सलाहकार रॉबर्ट रॉबिन्सन
प्रसिद्धि प्रकिण्व-उत्प्रेरक अभिक्रिया की त्रिविम रसायन
उल्लेखनीय सम्मान कोर्डे-मॉर्गन पदक (1949)
रसायन शास्त्र में नोबेल पुरस्कार (1975)
रॉयल पदक (1976)
कोप्ले मेडल (1982)

सन्दर्भसंपादित करें

  1. जॉन कॉर्नफोर्थ Archived 2014-04-01 at the Wayback Machine, एनएनडीबी
  2. Encyclopædia Britannica. (2012.) "Sir John Cornforth" Archived 2013-10-29 at the Wayback Machine
  3. "Tribute to Nobel prize-winning scientist John Cornforth" [नोबेल पुरस्कार विजेता वैज्ञानिक जॉन कॉर्नफोर्थ को श्रद्धांजलि] (अंग्रेज़ी में). सिडनी मोर्निंग हेराल्ड. १५ दिसम्बर २०१३. मूल से 16 दिसंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि १५ दिसम्बर २०१३.