ज्युसेपे मेत्सिनी (Giuseppe Mazzini ;उच्चारण [dʒuˈzɛppe matˈtsiːni]; 22 जून 1807 – 10 मार्च 1872) इटली के राजनेता, पत्रकार तथा एकीकरण का कार्यकर्ता थे। इनको 'इटली का स्पन्दित हृदय (धड़कता दिल)' कहा जाता था। इन्होंने 1833 बर्न में यंग यूरोप की स्थापना की और इनहोने 1831 ई॰ में यंग इटली की स्थापना की। यह राजतंत्र के घोर विरोधी थे। उनके प्रयत्नों से इटली स्वतंत्र तथा एकीकृत हुआ। विनायक दामोदर सावरकर मेत्सिनी को अपना आदर्श नायक मानते थे। लाला लाजपत राय मेत्सिनी को अपना राजनीतिक गुरू मानते थे। बाद मे लाला लाजपत राय ने मेत्सिनी की प्रसिद्ध रचना 'द ड्यूटी ऑफ मैन' का उर्दू मे अनुवाद किया ।

ज्यूसेपे मेत्सिनी

इन्हें भी देखेंसंपादित करें