टाइटैनोसॉरस (Titanosaurus) भारत में उत्तर चाकमय युग (Late Cretaceous) में पाया जाने वाला एक डायनोसोर था। यह पहला डायनोसोर था जिसके जीवाश्म भारत में मिले। इसकी रीढ़ की एक हड्डी सन् 1828 में पाई गई थी। यह सभी डयनोसोर जातियों में सबसे भीमकाय में से एक माना जाता है। इसके बावजूद इसका अधिक वर्णन नहीं किया जाता और कुछ जीववैज्ञानिकों का मानना है कि भारत ने अपने डायनासोरों को पार्याप्त रूप से उजागर नहीं करा है।[1][2]

टाइटैनोसॉरस
Titanosaurus
सामयिक शृंखला: उत्तर चाकमय युग, 70 मिलियन वर्ष
Titanosaurus.jpg
टाइटैनोसॉरस की रीढ़ के कुछ जीवाश्म
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: कशेरुकी
वर्ग: सरीसृप (Reptilia)
उपगण: सॉरोपोडोमोर्फ़ा (Sauropodomorpha)
वंश: टाइटैनोसॉरस (Titanosaurus)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Pranay Lal: India has not marketed or preserved its discoveries on dinosaurs". मूल से 14 मई 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जनवरी 2020.
  2. Wilson, J.A. and Upchurch, P. (2003). "A revision of Titanosaurus Lydekker (Dinosauria – Sauropoda), the first dinosaur genus with a “Gondwanan” distribution." Journal of Systematic Palaeontology, 1(3): 125-160.