सर थॉमस मोरे (7 फ़रवरी 1478 – 6 जुलाई 1535) अंग्रेज़ वकील, सामाजिक दार्शनिक, लेखक, नीतिज्ञ, और प्रसिद्ध पुनर्जागरण मानवतावादी थे, जिन्हें कैथोलिक गिरजाघर में संत थॉमस मोरे के रूप में सम्मानित रहे।[1][2] उन्होंने हेनरी अष्टम के समय अक्टूबर 1529 से मई 1532 तक लॉर्ड हाई चांसलर ऑफ़ इंग्लैण्ड रहे।[3] उन्होंने काल्पनिक द्वीप राज्य के राजनैतिक तंत्र के बारे में यूटोपिया नामक पुस्तक लिखी जो वर्ष 1516 में प्रकाशित हुई।[4]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "St. Thomas More". savior.org. मूल से 25 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2020-06-29.
  2. Homily at the Canonization of St. Thomas More Archived 2016-03-04 at the Wayback Machine at The Center for Thomas More Studies at the University of Dallas, 2010, citing text "Recorded in The Tablet, June 1, 1935, pp. 694–695"
  3. Linder, Douglas O. The Trial of Sir Thomas More: A Chronology Archived 2019-12-26 at the Wayback Machine at University Of Missouri-Kansas City (UMKC) School Of Law
  4. Jubilee of parliament and government members, proclamation of Saint Thomas More as patron of statesmen Archived 2017-05-21 at the Wayback Machine vatican.va