मुख्य मेनू खोलें
रोल करके चलती हुई वस्तु पर लगने वाले बल

किसी वस्तु को किसी समतल पर चलाने के लिए लगाया गया बल कर्षण (Traction या tractive force) कहलाता है। यह बल मुख्यतः शुष्क घर्षण को जीतने के लिए लगाना पड़ता है।

विविध प्रकार के कर्षणसंपादित करें

 
जर्मनी के DB E 40 शृंखला कर्षण मोटर उनसे घुमाए जाने वाले दो पहिए। इसके लिए एक-फेजी सीरीज मोटर का उपयोग किया गया है।

ली गयी ऊर्जा के आधार परसंपादित करें

बल लगाने के स्थान के आधार परसंपादित करें

  • आगे के पहिये की ड्राइव वाला
  • पीछे के पहिये की ड्राइव वाला
  • स्वतंत्र ड्राइव (प्रत्येक पहिये के लिये एक ड्राइव)
  • सम्पूर्ण कर्षण

अन्यसंपादित करें

  • मानव कर्षण
  • पशु कर्षण
  • केबल कर्षण

इन्हें भी देखेंसंपादित करें