डग राजस्थान के झालावाड़ जिले में एक पंचायत समिति है। डग क्षेत्र में प्रसिद्ध डगेश्वरी माता का मंदिर हैं जिस कारण से इस क्षेत्र का नाम डग है डग से 12 किलोमीटर दूर कोलवी बोद्धा गुफ़ाए पर्यटन स्थल है तथा डग क्षेत्र की तीन सीमाए 12 किलो मीटर पर मध्यप्रदेश पर टच होतीं हैं। पहले डग क्षेत्र में प्रवेश करने के डग में पूरे 6 दरवाजे बने हुए हैं लेकिन धीरे धीरे जनसंख्या बड़ने से दरवाजों के बाहर भी आबादी रहने लग गयी हैं 6 दरवाजों से निकाली दीवारें पूरे डग के चारों तरफ फ़ैली हुयी हैं जो पहले डग में रहने वाले व्यक्तियों की सुरक्षा करती थी। वर्तमान में शेर दरवाजा बुधवारिया दरवाजा चौकड़ी दरवाजा आदि दरवाजों के नाम हैं डग की प्राचीन इमारत जिसे कचहरी के नाम से जाना जाता है पहले राजा जब आते थे तो यहां विश्राम के लिए रुकते थे वर्तमान में श्री कांच वाला हनुमान मंदिर यहा का प्रसिद्ध और सबसे बड़ा मंदिर हैं झलावाड़ जिले में सबसे अधिक वर्षा वाला क्षेत्र भी डग हैं डग क्षेत्र की सबसे खास बात यहा का पर्यावरण वातावरण सबसे अलग हैं।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

साँचा:डग से 6 किलोमीटर प्रशिद्ध क्यावर्णेश्वर महादेव है

  1. "Dag Village in Gangdhar (Jhalawar) Rajasthan | villageinfo.in". villageinfo.in. अभिगमन तिथि 19 जनवरी 2021.