डिमांड ड्राफ्ट बैंक द्वारा जारी ऐसा नेगोशियेबल इंस्ट्रूमेंट है जो कि भुगतानकर्ता के नाम का उल्लेख करते हुए एक निश्चित राशि के भुगतान की की गारंटी देता है।[1][2]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. एस॰एस॰ गुलसन (1 जनवरी 2009). Business Law [व्यवसाय कानून]. एक्सेल बुक्स इंडिया. पृ॰ 285. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7446-689-1. अभिगमन तिथि 1 जून 2019.
  2. रोगर मिलर; गायलोर्ड जेंट्ज़ (26 सितम्बर 2007). Cengage Advantage Books: Business Law Today: The Essentials. सेंगगे लर्निंग. पृ॰ 417. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-324-65454-5. मूल से 26 अप्रैल 2011 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 1 जून 2019.