दिष्टधारा मशीन (DC machine) उन सभी मशीनों को कहते हैं जो डीसी लेकर यांत्रिक ऊर्जा उत्पन्न करती हैं (डीसी मोटर) या जो यांत्रिक ऊर्जा को डीसी में बदलती हैं (दिष्टधारा विद्युतजनित्र)।

आधुनिक काल की सस्ती डीसी सीरीज मोटर। यह मोटर किसी वक्युम क्लीनर से निकाली गयी है।

प्रकारसंपादित करें

  • ब्रशयुक्त डीसी मशीन
  • शन्ट डीसी मशीन
  • सीरीज डीसी मशीन
  • कम्पाउण्ड डीसी मशीन

गुण और दोषसंपादित करें

गुणसंपादित करें

  • सेल, बैटरी आदि से चल सकती है। अतः सामान्यतः वाहनों और खिलौनों आदि में उपयोग करना सरल है।
  • डी सी मोटरों के चाल का नियन्त्रण बहुत आसानी से हो जाता है।
  • मोटर जैसा या जनित्र जैसा आसानी से उपयोग की जा सकती है।
  • डीसी सीरीज मोटर, कम चाल पर बहुत अधिक बलाघूर्ण उत्पन्न करती है, इसलिए यह विद्युत कर्षण (इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन) के लिए अत्यन्त उपयोगी है। इसी प्रकार डीसी सीरीज मशीन, डी सी तथा ए सी दोनों से चल सकती है, अतः इसे 'युनिवर्सल मोटर' कहते हैं।

दोषसंपादित करें

  • इसका आरम्भिक मूल्य अपेक्षाकृत अधिक होता है।
  • इसमें कम्युटेटर और ब्रश आदि घिसने वाले अवयव मौजूद होते हैं। इसके कारण इसे बार-बार रखरखाव करन पड़ता है।
  • इसके ब्रश और कम्युटेटर के बीच स्पार्क होता है जिसके कारण इसे ऐसे स्थान में उपयोग नहीं किया जा सकता जहाँ चिनगारी से आग लगने का खतरा हो, या जहाँ ज्वलनशील गैस उपस्थित हो।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें