डॉ सुभाष राय एक हिन्दी साहित्यकार और पत्रकार हैं।[1][2]

इनका जन्म जनवरी 1957 में उत्तर प्रदेश में स्थित मऊ जिला के गांव बड़ागांव में हुआ। शिक्षा काशी, प्रयाग और आगरा में हुई। उन्होंने आगरा विश्वविद्यालय के ख्यातिप्राप्त संस्थान के. एम. आई. से हिंदी साहित्य और भाषा में स्रातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की। उत्तर भारत के प्रख्यात संत कवि दादू दयाल की कविताओं के मर्म पर शोध के लिए इन्हें डाक्टरेट की उपाधि मिली। ये कविता, कहानी, व्यंग्य और आलोचना में निरंतर सक्रिय हैं। उन्होंने अमृत प्रभात और अमर उजाला जैसे प्रतिष्ठित समाचारपत्रों में शीर्ष पदों पर काम किया है। ये फिलहाल लखनऊ से प्रकाशित होने वाले हिन्दी दैनिक जनसंदेश टाइम्स[3] और हिन्दी मासिक पत्रिका समकालीन सरोकार के प्रधान संपादक हैं।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "प्रवक्ता डॉट कॉम: लेखक : डॉ॰ सुभाष राय". मूल से 12 अक्तूबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अक्तूबर 2013.
  2. "साहित्य शिल्पी में चोरों का मानवाधिकार (व्यंग्य) - डॉ॰ सुभाष राय". मूल से 25 नवंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अक्तूबर 2013.
  3. "विचार-बिगुल: डॉ॰ सुभाष राय जनसंदेश के संपादक बने". मूल से 7 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 23 अक्तूबर 2013.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें