तानी भाषाएँ (Tani) या मिरिच भाषाएँ (Miric) पूर्वोत्तरी भारत में, विशेषकर अरुणाचल प्रदेश में, बोली जाने वाली तिब्बती-बर्मी भाषा परिवार की एक शाखा है। इस उपपरिवार की भिन्न बोलियाँ लगभग ६ लाख लोग बोलते हैं।[1][2]

तानी
मिरिच
भौगोलिक
विस्तार:
अरुणाचल प्रदेश
भाषा श्रेणीकरण: चीनी-तिब्बती
उपश्रेणियाँ:
पूर्वी (अबोर)
पश्चिमी (निशी)
ऍथनोलॉग कोड: 17-4033

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Bradley, David, 1997. 'Tibeto-Burman languages and classification.' In David Bradley, ed. Tibeto-Burman languages of the Himalayas. Canberra, Australian National University Press: 1–72.
  2. van Driem, George, 2001. Languages of the Himalayas: An Ethnolinguistic Handbook of the Greater Himalayan Region. Brill.