तारिक इब्न ज़ियाद

मुस्लिम जनरल जिन्होंने विजिगोथिक हिस्पैनिया इस्लामी विजय का नेतृत्व किया

तारिक इब्न ज़ियाद (अरबी: طارق بن زياد) एक मुस्लिम कमांडर थे जिन्होंने 711-718 ईस्वी में विसिगोथिक हिस्पानिआ की इस्लामी उमय्यद विजय अभियान का नेतृत्व किया था। उमय्यद खलीफ़ा अल-वालिद के आदेश के तहत इन्होंने एक बड़ी सेना का नेतृत्व किया और उन्होंने एक बड़ी सेना का नेतृत्व किया और उत्तरी अफ्रीकी तट से जिब्राल्टर के जलडमरूमध्य को पार किया, जो आज जिब्राल्टर चट्टान के रूप में जाना जाता है पर अपने सैनिकों को संघटित किया था। "जिब्राल्टर" नाम अरबी नाम जबल तारिक (جبل طارق) का स्पेनिश व्युत्पन्न है, जिसका अर्थ है "तारिक का पर्वत",[1] जिसका नाम उनके नाम पर रखा गया है। इनको इतिहास के बहतरीन कमांंडरोंं मेेंं गिना जाता है।

तारिक इब्न ज़ियाद
Ṭāriq ibn Ziyād
طارق بن زياد
निष्ठा उमय्यद ख़िलाफ़त
उपाधि जनरल, प्रमुख
युद्ध/झड़पें हिस्पैनिया पर विजय
 • गुआदलते की लड़ाई
अन्य कार्य अल-अंडलस के गवर्नर
मूरिश किला

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "History of Gibraltar". Government of Gibraltar. मूल से January 3, 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2007-12-20.