ताहिर हुसैन आम आदमी पार्टी का सदस्य और निगम पार्षद है। हुसैन अरविन्द केजरीवाल का करीबी नेता रहा है। उसे दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में आम आदमी पार्टी को जीत दिलाने वाले नेताओं में भी शीर्ष पर गिना जाता है। हुसैन को मुसलमानों और आम आदमी पार्टी के बीच बहतर समीकरण बनाने के लिए भी जाना जाता था। फरवरी 2020 में हुए दिल्ली दंगों में ताहिर हुसैन को दोषी माना गया। ताहिर के घर से बहुत हथियार और पैट्रोल बम पाये गये थे।[1] पुलिस ने उस पर दंगा भड़काने, हत्या करने , और कई जगह आगजनी करने का केस दर्ज किया।[2][3] भारतीय जनता पार्टी के नेता कपिल मिश्रा और मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि दिल्ली में हुये दंगों और हिन्दुओं की हत्या का मास्टरमाइंड ताहिर हुसैन है।[4]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Delhi Violence: ताहिर हुसैन के घर मिला तबाही का सामान, छत पर मिले बाहुबली गुलेल और पेट्रोल बम". m.jagran.com.
  2. "आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या, हिंसा और आगजनी का केस दर्ज". आज तक.
  3. "IB कर्मी की हत्या में AAP नेता का नाम आने पर गौतम गंभीर बोले- आरोप सही साबित हुए तो भगवान भी..." एनडीटीवी इंडिया.
  4. "Delhi Violence: AAP पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का केस दर्ज". एनडीटीवी इंडिया.