तिब्बती पंचांग (तिब्बती : ལོ་ཐོ, लो'थो) चन्द्रसौर पंचांग है। तिब्बती वर्ष १२ या १३ चन्द्र मास का होता है। प्रत्येक मास प्रथमा (new moon) से आरम्भ होता है। दो या तीन वर्ष बाद वर्ष में १३ माह कर दिये जाते हैं ताकि औसत वर्ष एक सौर वर्ष (३६५.२५ दिन) का हो जाय।

वर्ष १९२३-२४ के तिब्बती पंचांग का मुखपृष्ट

तिब्बती नव-वर्ष को लो-गसर (ལོ་གསར་) कहते हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें