तेजड़िया , जिसे प्रायः अंग्रेजी में बुल कहा जाता है, शेयर अथवा कमोडिटी बाजार आदि के ऐसे सदसय हैं जो कि बाजार में तेजी अर्थात भाव बढ़ने की आशा करते हैं।[1] वे खरीदारी करते हैं और उम्मीद करते हैं कि बढ़े हुए दाम पर बेचकर लाभ कमाने की उम्मीद करते हैं। इनके उलट मंदड़िये बाजार में मंदी की आशा करते हुए बिकवाली करते हैं और भविष्य में कम दाम पर खरीदकर लाभ कमाने की उम्मीद रखते हैं।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 18 फ़रवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 फ़रवरी 2018.