तोरख़म या तूरख़म (पश्तो; طورخم) पाकिस्तान के पश्चिमोत्तरी संघीय प्रशासित कबायली क्षेत्र (फ़ाटा) की ख़ैबर एजेंसी में स्थित पाकिस्तान-अफ़्ग़ानिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर एक छोटा सा सरहदी क़स्बा है। सीमा के उस पार अफ़्ग़ानिस्तान का नंगरहार प्रान्त है। यह बस्ती प्रसिद्ध ख़ैबर दर्रे से सिर्फ़ पाँच किलोमीटर पूर्व पर स्थित है और पाकिस्तान-अफ़्ग़ानिस्तान के दर्मियान यातायात और व्यापार का एक मुख्य पड़ाव है। तोरख़म और उसके इर्द-गिर्द के इलाक़ों में मुख्य रूप से पश्तून लोग बसते हैं।[1]

तोरख़म में पाकिस्तान-अफ़्ग़ानिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर करते लोग

नाम का उच्चारणसंपादित करें

'तोरख़म' में 'ख़' अक्षर के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिन्दु वाले 'ख' से ज़रा भिन्न है। इसका उच्चारण 'ख़राब' और 'ख़रीद' के 'ख़' से मिलता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Addiction, Crime and Insurgency: The Transnational Threat of Afghan Opium[मृत कड़ियाँ], United Nations, United Nations Publications, 2009, ISBN 978-92-1-130285-1, ... The most widely used is the Peshawar- Torkham-Jalalabad road ...