त्यागी पश्चिमी उत्तर प्रदेश , दिल्ली , हरियाणा ,उत्तराखंड , मध्य प्रदेश और राजस्थानके कुछ हिस्सों में पायी जाने वाली एक ब्राह्मण जमींदार जाति है।

त्यागी पंजाब में मोहयाल, महाराष्ट्र में चितपावन , पूर्वी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के चंबल क्षेत्र में त्यागी, बिहार में भूमिहार, दक्षिण भारत में नियोगी , अनाविल , राव , नंबूदरी , हेगड़े , ऐय्यर आदि उपनामो से जाने जाते है। इन सभी को संगठित रूप से ब्रह्मऋषि समाज भी कहा गया है। ये भगवान् परशुराम को अपना कुलगुरु मानते है।।

त्यागी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपनी जमींदारी व् रियासतों से जाने जाते है। निवाड़ी,असौड़ा रियासत, रतनगढ़ , हसनपुर दरबार(दिल्ली), बेतिया रियासत, राजा का ताजपुर , बनारस राजपाठ (भूमिहार), टेकारी रियासत, आदि बहुत सारे प्रमुख राजचिन्ह है। इसके अलावा सैकड़ो बावनी(बावन हजार बीघा जमीन वाले) गांव है।

बनारस का राजघराना (विभूति साम्राज्य) काशी नरेश भी इसी त्यागी भूमिहार परिवार से है। इसके अलावा ईरान, अफ़ग़ानिस्तान के प्राचीन राजा भी मोहयाल शाखा के यही योद्धा ब्राह्मण थे। इनमे सबसे प्रमुख है अफ़ग़ानिस्तान का प्राचीन शाही साम्राज्य जो मोहयालो का महान साम्राज्य था जिन्होंने भारतवर्ष में सबसे पहले अरबो को युद्ध में धुल चटाई थी और ऐसी हार दी थी की अगले 300 साल तक कोई हमला नही कर पाए थे।।

सन्दर्भसंपादित करें