त्रेगामी भाषा (Tregami language), जिसे त्रिगामी भाषा और गाम्बीरी भाषा भी कहते हैं, अफ़ग़ानिस्तान के कुनर प्रान्त के मध्य भाग में स्थित वटापूर ज़िले के गाम्बीर और कटार गाँवो में बोली जाने वाली एक भाषा है।[1] यह हिन्द-ईरानी भाषा-परिवार की नूरिस्तानी शाखा की एक भाषा है। इसके मातृभाषियों का साक्षरता दर बहुत कम है और केवल १% को लिखना-पढ़ना आता है और इसे द्वितीय भाषा के रूप में बोलने वालों का साक्षरता दर केवल १५% है।[2]

त्रेगामी
बोलने का  स्थान अफ़ग़ानिस्तान
क्षेत्र कुनर प्रान्त
समुदाय नूरिस्तानी
मातृभाषी वक्ता ३,५०० (२०११ अनुमान)
भाषा परिवार
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 trm
Indic script
इस पन्ने में हिन्दी के अलावा अन्य भारतीय लिपियां भी है। पर्याप्त सॉफ्टवेयर समर्थन के अभाव में आपको अनियमित स्थिति में स्वर व मात्राएं तथा संयोजक दिख सकते हैं। अधिक...

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Encycl. Ethnography Of Middle-East And Central Asia Archived 22 सितंबर 2014 at the वेबैक मशीन., R. Khanam, pp. 600, Global Vision Publishing House, 2005, ISBN 9788182200623, ... East of the Vaygal Valley live the Tregami, who occupy three villages in the upper reaches of a small valley system that drains into the Pech about six miles upriver from Chagha Saray. They speak an independent language that is closely related to Kalasha-ala ...
  2. Tregami: A language of Afghanistan Archived 15 अक्टूबर 2013 at the वेबैक मशीन., Lewis, M. Paul, Gary F. Simons, and Charles D. Fennig (eds.). 2013. Ethnologue: Languages of the World, Seventeenth edition. Dallas, Texas: SIL International.