दक्षिणपन्थी राजनीति

दक्षिणपंथी राजनीति का प्रकार

राजनीति में दक्षिणपंथी राजनीति (right-wing politics या rightist politics ) उस पक्ष या विचारधारा को कहते हैं जो सामाजिक स्तरीकरण या सामाजिक समता को अपरिहार्य, प्राकृतिक, सामान्य या आवश्यक मानते हैं।[1][2][3] [4][5]

ब्रिटेन का एक दक्षिणपन्थी राजनीतिक पोस्टर। लिखा है: "समाजवाद देश का गला घोट रहा है"। महिला-रूप देश की कमर-पेटी पर "समृद्धि" लिखा है।

विवरणसंपादित करें

आम तौर से इस पक्ष के समर्थक समाज की ऐतिहासिक भाषा, अर्थ-व्यवस्था और धार्मिक पहचान को बनाए रखने की चेष्टा करते हैं। पारम्परिक समाजों में अक्सर लोगों में वर्गीकरण और श्रेणीकरण नही होता है और दाईं राजनीति में प्राकृतिक नियम की दलील देकर ऐसे वर्गीकरणों को जारी रखने का समर्थन नही किया जाता है। राजनीति के सन्दर्भ में 'बाएँ' और 'दाएँ' शब्दों का प्रयोग फ़्रान्सीसी क्रान्ति के दौरान शुरू हुआ। फ़्रांस में क्रान्ति से पूर्व की एस्टेट जनरल (Estates General) नामक संसद में सम्राट को हटाकर गणतंत्र लाना चाहने वाले और धर्मनिरपेक्षता चाहने वाले अक्सर बाई तरफ़ बैठते थे। आधुनिक काल में पूँजीवाद से सम्बंधित विचारधाराओं को अक्सर दाईं राजनीति में डाला जाता है।[6]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Johnson, Paul (2005). Auburn University website "Right-wing, rightist" Archived 2014-08-19 at the Wayback Machine Check |url= value (help). A Political Glossary. Retrieved 23 October 2014.
  2. Bobbio, Norberto and Allan Cameron, Left and Right: The Significance of a Political Distinction. University of Chicago Press, 1997, p. 51, 62. ISBN 978-0-226-06246-4
  3. J. E. Goldthorpe. An Introduction to Sociology. p. 156. ISBN 0-521-24545-1.
  4. Cultures at war: moral conflicts in western democracies, T. Alexander Smith, Raymond Tatalovich, University of Toronto Press, 2003, ISBN 978-1-55111-334-0
  5. Left and right: the significance of a political distinction, Norberto Bobbio, Allan Cameron, University of Chicago Press, 1996, ISBN 978-0-226-06245-7
  6. The Cambridge History of Twentieth-Century Political Thought, Terence Ball, Richard Paul Bellamy, Cambridge University Press, 2003, ISBN 978-0-521-56354-3