दन्त चिकित्सा उपकरण ऐसे उपकरण हैं जिनका उपयोग दन्त चिकित्सा करते समय दन्त चिकित्सक करते हैं। दांतों और उनके आसपास की मौखिक संरचनाओं की जांच करने, हेरफेर करने, उपचार करने, पुनर्स्थापित करने और हटाने के लिए इन उपकरणों का उपयोग किया जाता है। [1]

मुंह का दर्पण, प्रायः उपयोग किया जाने वाला दन्त चिकित्सा उपकरण है।

दन्त चिकित्सा में प्रयुक्त प्रमुख दन्त उपकरण ये हैं-

  • सिकल प्रोब या दन्त-खोजी (डेन्तल इक्सप्लोरर)
  • स्केलर (scaler)
  • लार-शोषी (Saliva Ejector) या चूषक ( Suction Device) -- मुख गुहा को द्रव-रहित बनाकर परीक्षण/कार्य में आसानी करने के लिए
  • दन्त छेदी (डेन्टल ड्रिल) -- कैविटी में सिमेन्ट भरने के पूर्व दान्त के सड़े भागों को निकालने/साफ करने के लिए
  • दन्त सुई (Dental Syringe) -- मसूड़ों या दाँत की जड़ों वाले भागों को सुन्न करने के लिए
  • मोल्ड (mould)
  • चम्मचाकार खोदक (Spoon excavator) -- दन्त-गुहा से नरम पदार्थों को बाहर निकालने के लिए
  • बर्निशर (Burnisher) -- दाँतों को चिकना करने, पॉलिश करने या उसपर लगे खरोंच आदि साफ करने के लिए
  • एक्स-किरण -- दाँतों का फोटो लेकर उनमें छिपे हुए सड़न का पता करने के लिए
  • तरह-तरह के चिमटे (forceps)
  • प्लायर -- दाँत उखाड़ने के लिए

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Adaire, Diana. "Classification of Dental Instruments". Arkansas Tech University. अभिगमन तिथि 2017-01-12.