प्रकाशमिति में में, प्रकाश स्रोत से दिशा विशेष में, इकाई ठोस कोण में, निकलने वाली तरंग-दैर्घ्य-भारित शक्ति को दीप्त तीव्रता (ल्युमिनस इन्टेन्सिटी) कहते हैं। यह प्रकाशीय सूत्र (luminosity function) पर आधारित है, जो की एक मानवीय आँख की संवेदनशीलता का एक मानकीकृत प्रतिरूप है।

इसकी SI इकाई कैंडिला (cd) है।

ज्योति तीव्रता

ज्योति तीव्रतासंपादित करें

ज्योति तीव्रता की परिभाषासंपादित करें

किसी दिशा में किसी प्रकाश स्रोत के एकांक घन कोण में उत्सर्जित (निकलने वाली) होने वाली ज्योति फ्लक्स  की मात्रा को उस  प्रकाश स्रोत की, उस दिशा में ज्योति तीव्रता कहते हैं।

ज्योति तीव्रता को प्रकाश स्रोत की प्रदीपन क्षमता भी कहा जाता है।

ज्योति तीव्रता का प्रतीक-संपादित करें

ज्योति तीव्रता को प्रतीक I द्वारा प्रदर्शित किया जाता है।

ज्योति तीव्रता का मात्रक-संपादित करें

ज्योति तीव्रता का मात्रक ल्यूमेन प्रति स्टेरेडियन होता है।

इसे कैंडेला भी कहा जाता है

अतः

                    1 कैंडेला  = ल्यूमेन / स्टेरेडियन

ज्योति तीव्रता का सूत्र-संपादित करें

यदि किसी प्रकाश स्रोत द्वारा घन कोण Δω में उत्सर्जित ज्योति फ्लक्स ΔF हो तो,

उस प्रकाश स्रोत की ज्योति तीव्रता

                       [       I = ΔF/Δω       ]

ज्योति तीव्रता की विमा      =    [ M L² Tᐨ³ ]   इसका विमीय  सूत्र  होता है।संपादित करें

Note-

फ्लक्स और तीव्रता की विमा समान होती है।