मुख्य मेनू खोलें

द्वीपीय केल्टी भाषाएँ (Insular Celtic languages) पश्चिमोत्तर यूरोप में केल्टी भाषा-परिवार की एक उपशाखा है जिसकी भाषाएँ ब्रिटेनआयरलैण्ड के द्वीपों पर उत्पन्न हुई थीं। यह मुख्यभूमि यूरोप और आनातोलिया में उत्पन्न होने वाली महाद्वीपीय केल्टी भाषाओं से भिन्न थी। सभी महाद्वीपीय केल्टी भाषाएँ विलुप्त हो गई और विश्व में आज बोली जाने वाली सभी केल्टी भाषाएँ केवल द्वीपीय केल्टी शाखा से ही हैं। ५वीं और ६ठी शताब्दी ईसवी में कुछ द्वीपीय केल्टी बोलने वाले पश्चिमोत्तर फ़्रान्स में जा बसे और वहाँ के ब्रिटेनी प्रायद्वीप व कुछ अन्य क्षेत्रों में आज भी उनके बोलने वाले मिलते हैं।[1][2]

द्वीपीय केल्टी
भौगोलिक
विस्तार:
आयरलैण्ड, स्कॉटलैण्ड, वेल्स, मैन का द्वीप, कॉर्नवल, ब्रिटेनी
भाषा श्रेणीकरण: हिन्द-यूरोपीय
उपश्रेणियाँ:

उपशाखाएँसंपादित करें

द्वीपीय केल्टी भाषाओं की दो उपशाखाएँ हैं:[3]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Cowgill, Warren (1975). "The origins of the Insular Celtic conjunct and absolute verbal endings". In H. Rix (ed.). Flexion und Wortbildung: Akten der V. Fachtagung der Indogermanischen Gesellschaft, Regensburg, 9.–14. September 1973. Wiesbaden: Reichert. pp. 40–70. ISBN 3-920153-40-5.
  2. McCone, Kim (1992). "Relative Chronologie: Keltisch". In R. Beekes; A. Lubotsky; J. Weitenberg (eds.). Rekonstruktion und relative Chronologie: Akten Der VIII. Fachtagung Der Indogermanischen Gesellschaft, Leiden, 31. August–4. September 1987. Institut für Sprachwissenschaft der Universität Innsbruck. pp. 12–39. ISBN 3-85124-613-6.
  3. Schrijver, Peter (1995). Studies in British Celtic historical phonology. Amsterdam: Rodopi. ISBN 90-5183-820-4.