धंग या धंगदेव (९५० से १००८ ईस्वी ) चन्देल राजवंश के एक शासक थे। इन्होंने जेजाकभुक्ति क्षेत्र, जो वर्तमान में (मध्य प्रदेश में बुंदेलखंड) है, वहाँ शासन किया था। [1] धंग ने चन्देलों की संप्रभुता स्थापित की, साथ ही इन्होंने अपने शासनकाल में प्रतिहारों की खूब सेवा की। वह ये मुख्य रूप से खजुराहो के विश्वनाथ मन्दिर के लोकप्रिय हुए।[2] इनके अलावा इन्होंने खजुराहो में कई और मन्दिरों का भी निर्माण करवाया था।

धंग
कलंजराधिपति
चन्देल राजवंश के शासक
शासनावधि९५० से १००८ ईस्वी
पूर्ववर्तीयशोवर्मन
उत्तरवर्तीगांदा
संतानगांदा
शासनावधि नाम
धंग देव
राजवंशचन्देल
पितायशोवर्मन
मातापुष्पा
Shrines dated to Dhanga's reign
खजुराहो का विश्वनाथ मन्दिर, धंगदेव ने निर्मित कराया था। 
खजुराहो का पार्श्वनाथ मन्दिर जिननाथ मन्दिर) भी धंग द्वारा निर्मित कराया गया था। 
घंटाई मन्दिर, जो अब खण्डहर बन चुका है, इसका निर्माण धंग ने कराया था। 


सन्दर्भसंपादित करें

  1. Dikshit 1976, पृ॰ 55.
  2. Smith 1881, पृ॰ 10.