नियंत्रण सिद्धान्त एवं स्थायित्व सिद्धान्त में, नाइक्विस्ट स्थायित्व निकष (Nyquist stability criterion) नियंन्त्रण प्रणालियों के स्थायित्व से सम्बन्धित एक निकष (कसौटी) है। इसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिकी और नियंत्रण प्रणाली इंजीनियरी में एवं अन्य क्षेत्रों में बहुतायत से होता है। यद्यपि नाइक्विस्ट का निकष सर्वाधिक सामान्य स्थायित्व परीक्षणों में से एक है, फिर भी यह केवल समय के साथ अपरिवर्तनशील रैखिक (LTI) प्रणालियों के लिये है। इस निकष का आविष्कार स्वीडेन-अमेरिकी विद्युत इंजीनियर हैरी नाइक्विस्ट ने १९३२ में बेल्ल टेलीफोन प्रयोगशाला में किया था।[1]

का नाइक्विस्ट प्लॉट

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Nyquist, H. (January 1932). "Regeneration Theory". Bell System Tech. J. USA: American Tel. & Tel. 11 (1): 126–147. डीओआइ:10.1002/j.1538-7305.1932.tb02344.x. मूल से 7 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि December 5, 2012. on Alcatel-Lucent website Archived 2015-12-18 at the Wayback Machine