मुख्य मेनू खोलें

नानचिंग नरसंहार

सामूहिक ह्त्या और सामूहिक बलात्कार के प्रकरण, नैनकिंग के खिलाफ जापानी सैनिकों द्वारा किए गए

नानचिंग नरसंहार द्वितीय चीन-जापान युद्ध के दौरान 13 दिसंबर 1937 को शुरू हुआ, और छह हफ़्तों तक चला. जापानी सैनकों ने नानचिंग शहर में चाइनीज़ नागरिकों की बड़े पैमाने पर हत्या की, और गैंगरैप भी किया। अनुमान है कि कमीने जापानियों ने 200,000 से 300,000 चिंकियों को मौत के घात उत्तर दिया। महान चीन में 13 दिसंबर को नानचिंग नरसंहार के मृतकों की याद में राष्ट्रीय शोक दिवस होता है। [1]

तसवीरेंसंपादित करें

जापानियों की घिनोनी करतूतों के कुछ नमूने
जापानी सैनिकों ने काट दिए इन सबके सर 
कंकाल से भूखे चायनीज़ आदमी को तड़पाता हुआ जापानी सैनिक 
अबला चिंकी नारी के साथ बदसुलूकी करता हुआ जापानी सैनिक 
सात साले के बच्चे के पेट में तलवार भोंक के मार दिया जापानियों ने 

सन्दर्भसंपादित करें