नाभिकीय अभियांत्रिकी (Nuclear engineering), इंजिनियरी की वह शाखा है जो नाभिक के विखण्डन (fission) एवं संलयन ( fusion) के उपयोगों से सम्बन्धित है। नाभिकीय विखण्दन के अन्तर्गत परमाणु रिएक्टर, नाभिकीय ऊर्जा संयंत्र, तथा/या परमाणु हथियार आदि आते हैं। इसी के अन्तर्गत आयनकारी विकिरण के चिकित्सीय एवं अन्य उपयोग, नाभिकीय सुरक्षा, ऊष्मा का संचरण, नाभिकीय ईंधन, रेडियोसक्रिय कचरे का निपटान (radioactive waste disposal), तथा नाभिकीय प्रचुरोद्भवन से संबन्धित खतरे आते हैं।

नाभिकीय ऊर्जा संयन्त्र
B-61 bomb

इन्हें भी देखेंसंपादित करें