निम्न दाब क्षेत्र या कम दाब का क्षेत्र उस जगह को कहते हैं, जहाँ वायु मण्डल का दाब आस पास के क्षेत्र से कम हो जाता है। जब आसपास के क्षेत्र में दाब अधिक होता है, तो वहाँ की हवा उस निम्न दाब के क्षेत्र में प्रवेश करती है। इसके साथ कई बार बादल भी आ जाते हैं, जो वर्षा के मुख्य कारण बनते हैं। इसके अलावा हवा घूमने लगता है और चक्रवात भी बन जाता है।

रचनासंपादित करें

जब वायु मण्डल में निम्न दाब का क्षेत्र बन जाता है और आस पास उच्च दाब का क्षेत्र होता है, तो वह एक दूसरे के जगह में आने के लिए कोशिश करते हैं। निम्न दाब के क्षेत्र में हवा बहुत कम होती है और उच्च दाब के क्षेत्र में वायु कम जगह में ही बहुत मात्रा में होती है। इस कारण उच्च दाब के क्षेत्र से हवा तेजी से निम्न दाब के क्षेत्र में प्रवेश करती है।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 27 सितंबर 2007 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 अगस्त 2015.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें