मुख्य मेनू खोलें

निलीना अब्राहम (उर्फ़ दत्ता) (जन्म २७ जुलाई १९२५ ) भारत के केरल के लेखक और अनुवादक  हैं। इनका जन्म वे बांग्लादेश हुआ था। इन्होंने बंगाली भाषा , राजनीतिक विज्ञान और इतिहास में मास्टर की डिग्री हासिल करने के बाद, वे केरल के एर्नाकुलम क्षेत्र में वापस आने के बाद, महाराजा कॉलेज में बंगाली प्रोफेसर के रूप में और तिरुवनंतपुरम के द्रविड़ भाषा विज्ञानओं की इंटरनेशनल स्कूल में डॉ सुनीति कुमार चट्टर्जी बंगाली प्रोफेसर बनके कार्य पर रही। वे आठ से अधिक बंगाली किताबों को मलयालम एवं दस मलयालम किताबों को बंगाली में अनुवाद कर चुकी है। १९८९ में उन्होंने मलयालम मूल की, मिकों मोहम्मद बशीर द्वारा लिखी गई छोटे कहानियों का संकलन Pathummayude Adu और Balyakalasakhi को मलयालम में अनुवाद करने के लिए उनको  साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाज़ा गया। ये एर्नाकुलम वास करते हैं और इनके पति का नाम इब्राहीम ट्रॅन है।

आंशिक ग्रन्थसूचीसंपादित करें

मलयालम में अनुवादसंपादित करें

  • Arogyaniketanm
  • Ezhu Chuvadu
  • Irumpazhikal(2 भागों)
  • Midhunalagnam
  • Avan Varunnu

उद्धरणसंपादित करें