डॉ नीहाररंजन गुप्त (6 जून 1911 - 20 फ़रवरी 1986) भारत के चर्मरोगविज्ञानी तथा लोकप्रिय बंगाली उपन्यासकार थे।[1] उन्होने 'किरीटि राय' नामक एक काल्पनिक जासूसी चरित्र का सृजन किया।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Meri Surat Teri Ankhen (1963)" [मेरी सूरत तेरी आँखें (१९६३)] (अंग्रेज़ी में). द हिन्दू. ११ फ़रवरी २०११. मूल से 6 जून 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ४ जून २०१४.