पंक (mud) पानी और धूल का मिश्रण होती है। नदी या तालाब के तल की मिट्टी को त्वचा के लिए स्वास्थ्य और सौंदर्यवर्धक माना गया है।[1] इसमें से भी मुल्तानी मिट्टी सर्वश्रेष्ठ समझी जाती है। आयुर्वेद में अनेक उपचारों में शरीर पर इसके लेप का विधान है। इसको सृष्टि की रचना और शरीर की रचना में प्रयुक्त 5 तत्वों में से एक समझा जाता है।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "आयुर्वेद: वर्षा ऋतु में बचें त्वचा रोगों से" (एचटीएमएल). आयुष्मान. अभिगमन तिथि 13 अगस्त 2007. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)[मृत कड़ियाँ]