पंकज पाराशर

पंकज पाराशर एक भारतीय पत्रकार हैं, जो दैनिक हिन्दुस्तान (समाचार पत्र) में मुख्य उप सम्पादक के पद पर कार्यरत हैं।[1][2] पंकज पाराशर ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब के संस्थापक सदस्य और उपाध्यक्ष हैं।[3] पत्रकारिता के साथ लेखन और सामाजिक विषयों पर वृत्तचित्र निर्देशन कर रहे हैं।[4]

निजी जीवनसंपादित करें

पंकज पाराशर का जन्म उत्तर प्रदेश के बागपत जिला के सिंघावली अहीर ग्राम में कौशल्या शर्मा और राज करण हमदम के कृषक परिवार में 01 फरवरी 1983 को हुआ था। पंकज पाराशर ने वर्ष 2003 में दोआब ज्योति साप्ताहिक समाचार पत्र का प्रकाशन करके पत्रकारिता प्रारम्भ की थी। ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब की वार्षिक पत्रिका 'शब्द मधु' की प्रकाशन समीति के अध्यक्ष हैं। यह पत्रिका सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक और पर्यावरण से सम्बंधित विषयों पर प्रकाशित होती है।[5]

उल्लेखनीय कार्यसंपादित करें

 
वृत्तचित्र द ब्रदरहुड के निर्देशन के समय जैसलमेर के किले में शूटिंग करते हुए पंकज पाराशर।

पंकज पाराशर ने पत्रकारिता के क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां प्राप्त की हैं। नोएडा में वायु सेना की भूमि पर अतिक्रमण करके भू-माफिया ने फार्म हाउसों का निर्माण किया था। पंकज पाराशर ने इस भूमि घोटाले को उद्घाटित किया। जिसके लिए उन्हें वर्ष 2016 में एचटी मीडिया स्टार अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। पंकज पाराशर ने ग्रेटर नोएडा में लगभग 1000 करोड़ रुपये के बहुचर्चित चकबन्दी घोटाले का भी अनावरण किया था।[6] पंकज पाराशर ने वर्ष 2011 में हुए भट्टा परसौल कांड के बाद भूमि अधिग्रहण और किसानों पर इसके प्रभावों का अध्ययन करते हुए वृत्तचित्र 'क्रश्ड ड्रीम्स' का निर्माण किया था।[7] हाल ही में दादरी के बिसाहड़ा कांड पर आधारित द ब्रदरहुड वृत्त चित्र का निर्देशन किया है। यह वृत्तचित्र शीघ्र ही प्रदर्शित होगा।[8][9][10][11][12]

सन्दर्भसंपादित करें