मुख्य मेनू खोलें
वॉयेजर द्वितीय यान द्वारा २४ जनवरी १९८६ को ली गयी एक पक की तस्वीर

पक अरुण (युरेनस) ग्रह का एक उपग्रह है। १९८५ तक पक वैज्ञानिकों के लिए अज्ञात था और इसके अस्तित्व का तब पता चला जब अरुण के पास से गुज़रते हुए वॉयेजर द्वितीय यान की खींची गयी तस्वीरों में यह नज़र आया। पक का अकार लगभग गोले जैसा है लेकिन पूरा गोला नहीं है। इसपर अंतरिक्ष से गिरे हुए उल्कापिंडों की वजह से बहुत से बड़े गढ्ढे हैं।

अकारसंपादित करें

पक का अकार गोल-जैसा पर थोड़ा बेढंगा है। इसका औसत व्यास लगभग १६२ किमी है, जो अरुण के पांच बड़े उपग्रहों से काफ़ी छोटा है। अरुण के पांच बड़े उपग्रह टाइटेनिआ, ओबेरॉन, ऍरिअल, अम्ब्रिअल और मिरैन्डा हैं, जिनमें से सब से छोटा मिरैन्डा है जिसका व्यास लगभग ४७१ किमी है। पृथ्वी के चन्द्रमा का व्यास लगभग ३,४७४ किमी है, यानि की हमारा चन्द्रमा पक से लगभग इक्कीस गुना बड़ा है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें