मुख्य मेनू खोलें

परिमल एक कविता संग्रह है।[1] इसकी रचना सूर्यकांत त्रिपाठी निराला ने की थी। यह पहली बार ई॰ सन् १९२९ में प्रकाशित हुआ।[2]

परिमल  
[[चित्र:|150px]]
मुखपृष्ठ
लेखक सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
देश भारत
भाषा हिंदी
विषय साहित्य
प्रकाशन तिथि

सन्दर्भसंपादित करें

  1. लुआ त्रुटि Module:Citation/CS1 में पंक्ति 739 पर: Argument map not defined for this variable।
  2. लुआ त्रुटि Module:Citation/CS1 में पंक्ति 739 पर: Argument map not defined for this variable।