परिशून्यन

परिशून्यन (Annihilation[1]) किसी वस्तु के सर्वनाश अथवा पूर्णतः समाप्त होने की अवस्था का नाम है।[2] संस्कृतनिष्ट शब्द परिशून्यन का शाब्दिक अर्थ परम रूप से शून्य होना।

एक फायमान आरेख जिसमें इलेक्ट्रॉन और पोजिट्रॉन की संयुक्त बद्ध अवस्था का एक फोटोन युग्म में परिशून्यन को दर्शाया गया है। इस बद्ध अवस्था का सामान्यतः पॉजिट्रोनियम के नाम से जाना जाता है।

भौतिक विज्ञान में, यह शब्द सामान्यतः अपपरमाण्विक कणों की उनके प्रतिकणों से होने वाली टक्कर में घटित घटना की प्रक्रिया को निरूपित करने के लिए प्रयुक्त किया जाता है। इसका एक उदाहरण चित्र में दिखाया गया है जहाँ एक इलेक्ट्रॉन अपने प्रतिकण पॉजिट्रॉन के साथ परिशून्यन करके एक फोटोन युग्म देता है।[3]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. परिशून्यन Archived 2015-06-12 at the Wayback Machine, रफ़्तार शब्दकोश।
  2. Annihilation Archived 2013-09-29 at the Wayback Machine, डिक्शनरी डॉट कॉम।
  3. "Antimatter" [परिशून्यन]. लोवरेंस बर्कले नेशनल लेबोरेट्री. मूल से 23 अगस्त 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 6-10-2013. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)