वातसुरंग या पवन सुरंग (Wind tunnels) बड़े आकार (कई मीटर व्यास की) सुरंगें होती हैं जिनमें से होकर तेज गति से हवा प्रवाहित करायी जाती है। इनका उपयोग तरह-तरह के वायुगतिकीय परीक्षण करने के लिए किया जाता है। मोटे तौर पर यह कह सकते हैं कि इन सुरंगों में स्थापित किसी विमान पर वही बल/दाब आदि लगते हैं यदि वह विमान हवा में उसी गति से उड़ रहा होता जिस गति से सुरंग में स्थित स्थिर विमान पर हवा प्रवाहित की जा रही है। अर्थात दोनों की आपेक्षिक गति में समानता है। पवन सुरंगो के उपयोग से कम लागत और कम जोखिम के साथ प्रयोग किये जा सकते हैं। अभिकलनात्मक तरल यांत्रिकी (CFD) नामक सॉफ्टवेयर सिलुलेशन के उपयोग से अब यह सम्भव है कि पवन सुरंग बनाए बिना भी बहुत से 'प्रयोग' किए जा सकते हैं।

https://www.nasa.gov/sites/default/files/styles/side_image/public/thumbnails/image/edu_wind_tunnels_1.jpg?itok=pZg9nFzN
नासा का पवन सुरंग जिसमें एक वायुयान का अपेक्षाकृत छोटा मॉडल परीक्षण के लिए स्थापित है।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें