मुख्य मेनू खोलें

पाकिस्तान पर अमरीकी मिसाइल हमला २००९

पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े में शनिवार, जनवरी 24, 2009 को अमरीकी चालक रहित विमान से किए गए दो मिसाइल हमलों में कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है। उत्तरी वज़ीरिस्तान में एक मिसाइल ने एक घर को निशाना बनाया. यह इलाक़ा तालेबान और अल-क़ायदा चरमपंथियों का गढ़ माना जाता है।

दूसरा हमलासंपादित करें

दूसरा हमला दक्षिणी वज़ीरिस्तान के इलाक़े में हुआ जिसमें पाँच लोगों की मौत हुई. पिछले कुछ महिनों में अमरीका ने इस क़बायली इलाक़े में चरमपंथियों को निशाना साधते हुए 20 से अधिक मिसाइल हमले किए हैं, हालाँकि पाकिस्तान कई बार इस पर आधिकारिक रूप से अपना विरोध भी दर्ज करा चुका है।

पाकिस्तान की धारणासंपादित करें

पाकिस्तान इसे अपनी संप्रभुता पर हमला मानता है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने आशा जताई है कि अमरीका इस तरह के विवादास्पद हवाई हमले रोक देगा क्योंकि इससे लोगों में नाराज़गी बढ़ रही है और इसके चलते पाकिस्तान की विद्रोहियों के ख़िलाफ़ लड़ाई में बाधा पहुँचती है।

हमलासंपादित करें

पहला हमला वज़ीरिस्तान के ज़ीराकाई में शाम पाँच बजे हुआ। अधिकारियों के अनुसार यह हमला ख़लील ख़ान के घर पर हुआ। अधिकारियों का कहना है कि इस हमले में चार अरब चरमपंथी मारे गए। हालांकि मारे गए लोगों की पहचान अभी स्पष्ट नहीं हो सकी है लेकिन माना जा रहा है कि इनमें से एक अल-क़ायदा का वरिष्ठ लड़ाका था।

दूसरा हमला वाना से 10 किलोमीटर दूर एक तालेबान कमांडर के घर को निशाना बनाकर किया गया। लेकिन अधिकारियों ने बीबीसी को बताया कि अमरीकी चालक रहित विमान ने दरअसल उस घर को निशाना बनाया जिसमें सरकार का समर्थन करने वाले एक क़बायली नेता रहा करते थे।

इस हमले में उनके परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई जिसमें एक पाँच साल का बच्चा शामिल है।