गुदामार्ग से आंत्रवायु (flatus) को बाहर निकालने की क्रिया को पादना कहते हैं और इसकी संज्ञा पाद (Flatulence) है।

PHegassen scroll
हे-गस्सेन (He-gassen) नामक जापानी कला जो सत्रहवीं शताब्दी में किसी अज्ञात चित्रकार द्वारा चित्रित की गयी थी। इसमें अनेकों दृष्य हैं जिनमें मुख्य और विचित्र बात यह है कि सभी में कम से कम एक पात्र किसी दूसरे पात्र की ओर पादते हुए दर्शाया गया है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें